फेसबुक ने आतंकियों को पकड़ने के लिए उठाया यह कदम

फेसबुक ने एक ब्लॉग के जरिए आतंकवाद से जुड़े कॉन्टेंट को अपनी साइट से दूर रखने के लिए कुछ तरीकें बताए हैं। फेसबुक ने यह खुलासा किया है कि वह अपने इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप यूजर्स के डेटा को शेयर कर रहा है।हालांकि उनमें से एक तरीके को विवादास्पद बताया जा रहा है जिसमें फेसबुक ने अपने यूजर्स के डेटा को को इकट्ठा करने की बात कही है।

फेसबुक का कहना है कि उसका अभी उसका ध्यान ‘क्रॉस प्लैटफॉर्म कलैबरेशन’ पर है। इस योजना के द्वारा कंपनी अपने इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप यूजर्स के डेटा को इकट्ठा कर उनका विश्लेषण कर रही है।

इस पोस्ट में फेसबुक का कहना है कि, ‘हम जानते हैं कि आतंकवादी कभी-कभी बात करने के लिए इंक्रीप्टेड मेसेज का भी इस्तेमाल करते हैं। इसके कारण हम इन संदेशों को पढ़ नहीं पाते हैं। पर हम वैध कानून प्रवर्तन के जवाब में वह जानकारी जरूर उपलब्ध कराते हैं जो हमारे कानून और नीतियों के अनुरूप है।’

  • facebook
  • googleplus
  • twitter
  • linkedin
  • linkedin
  • linkedin
Previous «
Next »

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *