छत्तीसगढ़ में किसानों की स्थिति अच्छी : रमन

रायपुर: देश में जहां एक ओर किसानों के आंदोलन बढ़ रहे हैं। वहीं प्रदेश के मुखिया डॉ. रमन सिंह ने कहा कि, छत्तीसगढ़ में किसानों की स्थिति अच्छी है। यहां पर किसानों को ब्याज मुक्त ऋण और सिंचाई के लिए 7500 यूनिट बिजली सहित कई सुविधाएं मुफ्त दी जा रही है।
उन्होंने कहा कि, छत्तीसगढ़ सरकार किसानों की अपनी सरकार है। इसलिए किसानों की बेहतरी हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता में है। छत्तीसगढ़ सरकार ने इस वर्ष किसानों को खरीफ मौसम में 3200 करोड़ रुपए और रबी में 600 करोड़ रुपए का ब्याजमुक्त ऋण देने का लक्ष्य रखा है। खरीफ फसलों के लिए सहकारी समितियों के माध्यम से ऋण वितरण जारी है। उन्हें अल्पकालीन ऋण में खाद और बीज तथा नगद राशि भी दी जा रही है।
डॉ. रमन सिंह ने कहा कि, छत्तीसगढ़ सरकार अपने किसानों के पांच हार्सपावर तक सिंचाई पम्पों को सालाना 7500 यूनिट बिजली नि:शुल्क दे रही है। राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए सौर सुजला योजना की भी शुरुआत की है। इसके अंतर्गत अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग और सामान्य वर्ग के किसानों को नाम मात्र कीमत पर सोलर सिंचाई पम्प दिए जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने बताया कि, छत्तीसगढ़ की सहकारी समितियों में किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदने और खरीदे गए धान की सम्पूर्ण राशि के भुगतान की कम्प्यूटरीकृत व्यवस्था की गई है। प्रदेश में किसानों के लिए काफी योजनाएं हैं, योजनाओं का विस्तार भी हुआ है।
डॉ. रमन सिंह ने पश्चिम बंगाल के दौरे के अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्र सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रति बंगाल के लोगों में काफी उत्साह देखा जा रहा है।
उन्होंने कहा कि, पश्चिम बंगाल में बिजली की प्रतिव्यक्ति औसत वार्षिक खपत सिर्फ 670 यूनिट है, जबकि छत्तीसगढ़ में 1760 यूनिट तक पहुंच गई है। सिर्फ 16 साल पुराने छत्तीसगढ़ राज्य में बिजली की प्रतिव्यक्ति खपत बढऩा वास्तव में नये राज्य के तेजी से हो रहे विकास की निशानी है।
उल्लेखनीय है कि, डॉ. रमन सिंह बंगाल के दौरे पर 16 जून को रायपुर से नियमित विमान द्वारा रवाना होकर कोलकाता पहुंचे थे और वहां से हेलीकॉप्टर द्वारा मेदनीपुर गए थे। उन्होंने मेदनीपुर के ग्राम हबीबपुर में एक दलित किसान पाचा भूनिया के घर भोजन किया था। वे इसके पहले मेदनीपुर के कॉलेज मैदान में आयोजित मोदी फेस्ट में भी शामिल हुए थे।
उन्होंने वहां एक आम सभा को भी सम्बोधित किया था। डॉ. सिंह ने मेदनीपुर में विभिन्न प्रतिनिधि मंडलों और योजनाओं के हितग्राहियों से मुलाकात की थी। मुख्यमंत्री रात्रि विश्राम के बाद मेदनीपुर के बोड़तला चौक में आयोजित स्वच्छता अभियान में शामिल हुए। उन्होंने स्वयं झाडू लगाकर समाज में स्वच्छता के प्रति और भी अधिक जागरूकता लाने का संदेश दिया।

  • facebook
  • googleplus
  • twitter
  • linkedin
  • linkedin
  • linkedin
Previous «
Next »

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *