अमरीका में हमलों के लिए भारतीय खुद जिम्मेदार: गुरिंदर खालसा

अमरीका में हमलों के लिए भारतीय खुद जिम्मेदार: गुरिंदर खालसा

वॉशिंगटन: अमरीका में सिखों के सबसे बड़े नेता ने कहा कि US आने वाले भारतीय मेल-जोल बढ़ाएंगे तो उन पर हमले नहीं होंगे। यूएस में सिख पॉलिटिकल एक्शन कमेटी के चेयरमैन गुरिंदर सिंह खालसा ने भारतीयों पर हमले के मुद्दे पर बात करते कहा कि अमेरिका में हमलों के लिए भारतीय भी जिम्मेदार हैं। वो अमरीका आते हैं और अपने लोगों में सिमट जाते हैं। उनका पहनावा और भाषा भी नहीं बदलती। अगर भारतीय मेल-जोल रखेंगे तो ऐसी घटनाएं नहीं होंगी।
गुरिंदर को यू.एस. वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस के करीबियों में गिना जाता है। गुरिंदर ने कहा, “फिलहाल डर का माहौल नहीं है, लेकिन सभी भारतीय एहतियात जरूर बरत रहे हैं। जहां लगता है कि हमें नहीं होना चाहिए, वहां अब हम नहीं जाते।” “दरअसल, अमरीका में इस तरह के नस्ली हमलों को रोका नहीं जा सकता। सरकार भी कंट्रोल नहीं कर सकती। ऐसे हमले आइसोलेटेड होते हैं, कुछ लोग किसी से बात नहीं करते, अचानक इमोशनल होकर हमले कर देते हैं। इनको रोकना नामुमकिन है।”

गुरिंदर ने कहा, “जहां तक ट्रंप सरकार की बात है, तो उनका नज़रिया सिर्फ इंडियंस के लिए नहीं, सभी बाहरियों के लिए बदला है। उनका फोकस सिर्फ अमरीकियों को ज्यादा से ज्यादा जॉब देने का है, न कि दूसरों से जॉब लेने पर।” “कंसास हमले के बाद हमने ट्रंप प्रशासन से बात की थी। उन्होंने घटना पर चिंता जाहिर की और ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए लोकल प्रशासन से कहा था।” बता दें कि US में हमले और नस्लीय घटनाओं को लेकर 8 मार्च को दिल्ली में सिख समुदाय की प्रैस कॉन्फ्रेंस होने जा रही है।

गुरिंदर भी इसमें शामिल होंगे। US में इंडियंस पर हमले और नस्लीय टिप्पणी की तीन बड़ी घटनाएं अब तक सामने आ चुकी हैं। पहली घटना कंसास में हुई। यहां 22 फरवरी को ओलाथे बार में भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला को पूर्व नेवी अफसर एडम पुरिन्टन ने गोली मार दी थी। गोली मारने से पहले उसने कहा था, ‘मेरे देश से निकल जाओ।’ इस हमले में श्रीनिवास के दोस्त दीपक मदासानी भी घायल हुए थे। भारतीयों को बचाने के दौरान अमरीकी इयान ग्रिलट घायल हो गए थे।

शनिवार को कैरोलिना में इंडियन बिजनेसमैन हार्निश पटेल (43) को गोली मार दी गई। पटेल एक स्टोर चलाते थे। कैरोलिना पुिलस के मुताबिक पटेली की बॉडी उनके घर के पास मिली। हालांकि, अफसरों ने इस हमले को शुरुआती जांच में नस्लीय मानने से इंकार कर दिया है। 23 फरवरी को न्यूयॉर्क में रहने वाली एकता देसाई के साथ ट्रेन में बदसलूकी हुई। इस घटना का वीडियो लाखो लोग देख चुके हैं। इसमें एक अफ्रीकी-अमरीकी नागरिक एकता से कह रहा है, “अमरीका से निकल जाओ।’ इस शख्स ने एकता को काफी भलाबुरा कहा और ‘फ्रीडम ऑफ स्पीच’ और ‘ब्लैक पावर’ जैसे शब्द भी इस्तेमाल किए।

Previous मलयेशिया ने निकाला उत्तर कोरिया का राजदूत
Next अमरीका में भारतीय निशाने पर, 10 दिनों में तीन पर हमला

About author

You might also like

अंतर्राष्ट्रीय 0 Comments

नोबेल पुरस्कार विजेता कवि डेरेक वालकॉट का निधन

नोबेल पुरस्कार विजेता कैरिबियाई कवि डेरेक वालकॉट का सेंट लुसिया स्थित अपने घर में निधन हो गया। उनके परिवार ने यह जानकारी दी। वालकॉट की उम्र 87 साल थी। वालकॉट

अंतर्राष्ट्रीय 0 Comments

भारतीय मूल की महिला अधिकारी ने नस्लवाद पर स्कॉटलैंड यार्ड पर मुकदमा किया

लंदन: भारतीय मूल की एक महिला अधिकारी सहित तीन महिला पुलिसकर्मियों ने नस्लवाद और लैंगिक रूझान को लेकर स्कॉटलैंड यार्ड पर मुकदमा किया है। एक मीडिया रपट में यह जानकारी

अंतर्राष्ट्रीय 0 Comments

दक्षिण कोरिया की अपदस्थ राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे गिरफ्तार

दक्षिण कोरिया की अपदस्थ राष्ट्रपति पार्क ग्युन हे को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया. अदालत के एक प्रवक्ता ने बताया कि पार्क को भ्रष्टाचार और सत्ता के दुरूपयोग मामले

अंतर्राष्ट्रीय 0 Comments

संशोधित ‘मुस्लिम बैन’ ऑर्डर पर ट्रंप का मुहर

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सोमवार को संशोधित ट्रैवल बैन ऑर्डर पर दस्तखत कर दिए। खास बात यह है कि व्हाइट हाउस ने संशोधित ट्रैवल बैन ऑर्डर में इराक का

अंतर्राष्ट्रीय 0 Comments

ऑस्ट्रेलिया में 150 डायनासोर के पदचिन्हों की पहचान की गई

ब्रिस्बेन : जीवाश्म वैज्ञानिकों के एक दल ने ऑस्ट्रेलिया में 21 प्रजातियों के 150 डायनासोरोंके पदचिन्हों की पहचान की है। क्वींसलैंड विश्वविद्यालय ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि इस

अंतर्राष्ट्रीय 0 Comments

अमेरिका में फौज के हथियार प्लांट में धमाका, 1 की मौत, 3 घायल

अमेरिका के शहर मिजूरी में फौज के एक हथियार प्लांट में धमाका हो गया। जानकारी मुताबिक इस धमाके में 1 की मौत, जबकि 3 लोगों घायल होने की खबर है।

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!