कुलभूषण केस LIVE: ICJ ने कहा जाधव को काउंसलर एक्सेस मिलना चाहिए

भारत ने कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की ओर से दी गई फांसी की सजा खत्म करने की मांग की थी

कुलभूषण केस LIVE: ICJ ने कहा जाधव को काउंसलर एक्सेस मिलना चाहिए
कुलभूषण जाधव मामले में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने अपना फैसला सुनाना शुरू कर दिया है। तीन दिन पहले इसने इस मामले में भारत और पाकिस्तान, दोनों पक्ष की दलीलें सुनी थीं। फैसला सुनाते हुए कोर्ट के जज ने माना कि विएना संधि के अनुसार जाधव को काउंसलर एक्सेस मिलना चाहिए था।

कोर्ट ने कहा दोनों ही देश इस संधि पर हस्ताक्षर कर चुके हैं ऐसे में जाधव की काउंसलर एक्सेस की मांग मानी जानी चाहिए थी। कोर्ट ने कहा अभी यह तय ही नहीं हो पाया है कि वह आतंकवादी थे या नहीं।

बता दें कि सुनवाई के दौरान भारत ने कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की ओर से दी गई फांसी की सजा खत्म करने की मांग की थी।

भारत ने आशंका जताई थी कि जाधव को सुनवाई खत्म होने से पहले ही फांसी दी जा सकती है। भारतीय नौसेना के पूर्व नेवी अफसर 46 वर्षीय जाधव को पाकिस्तान ने 3 मार्च को गिरफ्तार किया था।

पाकिस्तान ने उस पर जासूसी करने और तोड़फोड़ की कार्रवाई में शामिल होने का आरोप लगा कर उसे फांसी की सजा सुना दी थी। भारत ने इस पर कड़ी आपत्ति की थी और कहा था कि जाधव का अपहरण किया गया है।

फांसी की सजा रोकने से इनकार करने और जाधव तक राजनयिक पहुंच न देने पर भारत इस मामले को अंतरराष्ट्रीय अदालत में ले गया। आठ मई को मामला दाखिल करते हुए भारत ने जाधव मामले में पाकिस्तान पर वियेना समझौते के उल्लंघन का आरोप लगाया था।

भारत ने कहा था कि जाधव के खिलाफ पाकिस्तान के पास कोई सबूत नहीं है। उसे फर्जी आरोपों के आधार पर फांसी दी जा रही है।

दूसरी ओर पाकिस्तान का कहना था कि जिस वियेना समझौते का भारत उल्लंघन का आरोप लगा रहा है उसके तहत आतंकी गतिविधियों में शामिल जासूस तक राजनयिक पहुंच देने का प्रावधान नहीं है।

उसने इस मामले को अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान के खिलाफ राजनीतिक हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। पिछली बार अंतरराष्ट्रीय अदालत में भारत पाकिस्तान का सामना 18 साल पहले हुआ था।

भारत की दलील और पाकिस्तान का तर्क

भारत की दलील

जाधव को फांसी की सजा देकर पाकिस्तान ने वियेना समझौते का उल्लंघन किया है। जाधव के खिलाफ कोई सुबूत नहीं है। उसे फर्जी आरोपों के आधार पर फांसी दी जा रही है।

पाकिस्तान का तर्क
जिस वियेना समझौते का भारत उल्लंघन का आरोप लगा रहा है उसके तहत आतंकी गतिविधियों में शामिल जासूस तक राजनयिक पहुंच देने का प्रावधान नहीं है।

क्या है आरोप
जाधव पर पाकिस्तान ने जासूसी करने और तोड़फोड़ की गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाया है।

Previous दूल्हे ने 'प्रभु' से लगाई गुहार-ट्रेेन हुई लेट तो नहीं हो पाएगी शादी, कुछ कीजिए
Next कोपरा पाक

About author

You might also like

राष्ट्रीय 0 Comments

INDvsAUS: वॉर्नर-स्मिथ की तेज बल्लेबाजी, भारत को विकट की तलाश

धर्मशाला : भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की सीरीज का आखिरी टेस्ट धर्मशाला के एचपीसीए स्टेडियम पर खेला जा रहा है। 10 रन पर पहला विकेट गंवाने के

राष्ट्रीय 0 Comments

‘लक्ष्मणरेखा’ पर घिर गईं मेनका, सोशल मीडिया पर तीखे रिऐक्शन

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों के बाहर रहने की समय सीमा तय किए जाने का समर्थन किया है। उन्होंने लड़कियों की

बड़ी खबर 0 Comments

मोदी सरकार महिलाओं को दे सकती है इनकम टैक्स में छूट का तोहफा

मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर केंद्र की ओर से कामकाजी महिलाओं को खुशखबरी मिल सकती है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के नेतृत्व वाले मंत्री समूह ने सरकार

राष्ट्रीय 0 Comments

आज तक की सबसे स्वीकार्य प्रधानमंत्री : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

नई दिल्ली: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इंदिरा गांधी को लोकतांत्रिक देश की अब तक की ‘सबसे स्वीकार्य’ प्रधानमंत्री बताते हुए उनकी निर्णायक क्षमता को याद किया. मुखर्जी ने कांग्रेस पार्टी

राष्ट्रीय 0 Comments

एनएसयूआई अध्यक्ष का चुनाव भी टैलेंट हंट के जरिए होगा

कांग्रेस देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी है या फिर नए जमाने का कोई कॉरपोरेट दफ्तर? एनएसयूआई अध्यक्ष का चुनाव भी टैलेंट हंट के जरिये किया जा रहा है. साल

राष्ट्रीय 0 Comments

आधार को अनिवार्य बनाने पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाई है

नई दिल्‍ली: कई सरकारी योजनाओं के लिए आधार को अनिवार्य बनाने पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाई है. सुप्रीम कोर्ट ने इस बाबत केंद्र सरकार से पूछा

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!