हाफ गर्लफ्रेंड मूवी रिव्यू

हाफ गर्लफ्रेंड मूवी रिव्यू

कलाकार -अर्जुन कपूर, श्रद्धा कपूर, सीमा बिस्वास

निर्देशक – मोहित सूरी

मूवी टाइप -Romance

अवधि -2 घंटा 15 मिनट

कहानी: माधव झा (अर्जुन कपूर) बिहार का एक देहाती लड़का है, जिसे उसी के कॉलेज और अपने ही क्लास की एक लड़की रीया सोमानी (श्रद्धा) से प्यार हो जाता है। श्रद्धा दिल्ली की लड़की है, जिसे धड़ल्ले से दमदार इंग्लिश बोलती है और यही एक अड़चन है इनके बीच। रीया आगे बढ़ना जानती है और माधव पर उसका भूत सवार है। अब देखना है कि क्या बिहार का यह लड़का उसके साथ आधा सफर तय कर पाता है?

रिव्यू: माना जा रहा है कि हममें से कइयों ने चेतन भगत का साल 2014 में आया नॉवल पढ़ा होगा, जो फिल्म के इसी टाइटल से है, लेकिन ‘हाफ गर्लफ्रेंड’ उनकी बेहतरीन कृतियों में शामिल नहीं। इसलिए मोहित सुरी (आशिकी 2, एक विलन) ने पर्दे पर उसे कुछ इसी तरह उतारा भी है, जिसमें थोड़ा फ़न है, लेकिन उससे कहीं ज्यादा बोरियत भी।

फिल्म में मजा तब आता है जब बिहार के सिमराओ का रहने वाला लड़का दिल्ली की लड़की को देखता है और उस पर मुसीबत टूट पड़ता है। इसके बावजूद वह उल्लू का पट्ठा अपनी बहादुरी दिखाने के लिए आगे बढ़ता है और इसे देखना दिलचस्प है। अंदाजा लगाइए कि वह अंग्रेजी में बहुत मुश्किल से एक- दो शब्द बोल पाता है और वह लड़की ऐसे बर्ताव करती है मानो वह ब्रिटेन से इंपोर्ट होकर आई हो। इन सबके अलावा बास्केटबॉल और म्यूजिक में दोनों ही एक जैसे उस्ताद हैं। बहुत जल्द माधव की दीवानगी जानलेवा आकर्षण में बदल जाती है। उसके कॉलेज का दोस्त शैलेश (विक्रांत मस्सी) उसे आने वाले खतरे के प्रति सचेत करता है, लेकिन माधव जो की पूरी तरह से मजनू के मोड में आ चुका है अपने दोस्त की किसी भी बात पर ध्यान नहीं देता।

माधव और ऑडियंस दोनों के लिए रीया का कमिटमेंट फोबिक होना थोड़ा निराशा जरूर पैदा करता है। ऐसा लगता है कि ‘हर दोस्त से ज्यादा लेकिन गर्लफ्रेंड से कम’ सेंटेंस आपको कुछ आगे सोचने से रोकने के लिए काफी है। माधव जो कि रीया का पीछा करते हुए पटना से न्यू यॉर्क तक पहुंच जाता है। फिल्म का फर्स्ट हाफ तो मौज-मस्ती भरा है, लेकिन इंटरवल के बाद का हिस्सा थोड़ा उबाऊ है। अर्जुन ईमानदार है, लेकिन बिहारी फिट में ढलने के लिए के लिए वह कुछ ज्यादी ही शहरी नज़र आ रहा और श्रद्धा जो दिखने में तो काफी प्यारी लग रहीं लेकिन गंभीरता में कमी नज़र आ रही।

फिल्म के म्यूज़िक की बात करें तो मनोज मुंतशिर का लिखा गाना ‘फिर भी मैं तुमको चाहूंगा’ शानदार बन पड़ा है, हालांकि मिथुन की आवाज दर्शकों को खींच पाने में उतना सफल नहीं। आखिरकार यहां हाफ गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड वही है, जिससे हममें से लगभग हर किसी का सामना कॉलेज कैम्पस में हो चुका है।

To stay updated with more such news updates Download the Clipper28 Mobile App now.
 
 
Bitly link of App 
Previous Hindi Medium Review
Next उत्तरप्रदेश अपराधो की गिरफ्त में : फ़िरोज़ाबाद में बड़े उद्योगपति का दिनदहाड़े अपहरण

About author

You might also like

फिल्म समीक्षा 0 Comments

अनारकली ऑफ आरा मूवी रिव्यू

कलाकार : स्वरा भास्कर, पकंज त्रिपाठी, संजय मिश्रा निर्देशक :अविनाश दास मूवी टाइप : Drama अवधि : 1 घंटा 53 मिनट कहानी यह कहानी बिहार के आरा जिले की है

फिल्म समीक्षा 0 Comments

MOVIE REVIEW ‘सरकार 3’: सितारों की भीड़ में कहानी कहीं गुम हो गई

 MOVIE REVIEW   फिल्म का नाम: सरकार 3 डायरेक्टर: रामगोपाल वर्मा स्टार कास्ट: अमिताभ बच्चन, मनोज बाजपेयी, जैकी श्रॉफ, अमित साद, यामी गौतम, रोनित रॉय, रोहिणी हथनगाडी अवधि: 2 घंटा

फिल्म समीक्षा 0 Comments

Movie Review : Sachin: A Billion Dreams से शुरू हो गई है सचिन-सचिन की दहाड़

Movie Review :  Sachin: A Billion Dreams  फिल्म: सचिन: ए बिलियन ड्रीम्स स्टारकास्ट: सचिन तेंदुलकर, अंजली तेंदुलकर, सारा तेंदुलकर, अर्जुन तेंदुलकर, हर्षा भोगले, मिखाइल गांधी अवधि: 2 घंटा 19 मिनट

फिल्म समीक्षा 0 Comments

फिल्‍म रिव्‍यू: दमदार एक्‍शन ‘नाम शबाना’

मुख्य कलाकार: तापसी पन्नू, मनोज बाजपेयी, पृथ्वीराज सुकुमारन, अनुपम खेर आदि। निर्देशक: शिवम नायर निर्माता: नीरज पांडेय, शीतल भाटिया स्टार: *** (तीन स्‍टार) नीरज पांडेय निर्देशित ‘बेबी’ में शबाना (तापसी

फिल्म समीक्षा 0 Comments

कितनी मनोरंजक है – बद्रीनाथ की दुल्हनिया…. Movie Review

Rating: 3/5 Stars ‘‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ की कहानी भी वही है जो आपने अबसे पहले सौ दफ़े देखी है। बद्रीनाथ बंसल यानि वरुण धवन – वैदेही यानि आलिया भट्ट पर

फिल्म समीक्षा 0 Comments

बाहुबली 2 मूवी रिव्यू : इंटरवल से पहले पता चल जाएगा कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा…….

बाहुबली द बिगिनिंग भारतीय सिनेमा को इंटरनेशनल स्तर पर लेकर गई। यह फिल्म एक बड़ा सवाल छोड़ कर गई थी। यह वो सवाल था जिसके जवाब के लिए दो साल

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!