कभी सिरपुर आये थे ‘एलियन’

कभी सिरपुर आये थे ‘एलियन’

सिरपुर. छत्तीसगढ़ के सिरपुर की पुरातात्विक खुदाई में ढाई हजार साल पुराने कई ऐसे अवशेष मिले हैं, जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि हजारों साल पहले भी मनुष्य विज्ञान का भलीभांति प्रयोग करते रहे होंगे. सिरपुर में मिला प्राचीन भूकंप-रोधी सुरंग टीला इसका बेजोड़ नमूना है. इसके साथ ही खुदाई में एलियन यानी दूसरे ग्रहों के प्राणियों की भी मौजूदगी के सबूत मिले हैं. सिरपुर से जुड़ी इन्हीं सब रहस्यों को खंगालने और डाक्यूमेंट्री बनाने रविवार को यूएसए (अमेरिका) की एंशिएट एलियन (जार्जिया) की टीम पहुंची. टीम ने वरिष्ठ पुरातत्वविद् और पुरातत्व सलाहकार पद्मश्री डॉ. अरुण शर्मा के नेतृत्व में सिरपुर क्षेत्र की शूटिंग की. गौरतलब है कि डॉ. शर्मा ने ही सिरपुर की खुदाई का पूरा नेतृत्व किया था. डॉ. शर्मा ने बताया कि यूएसए की टीम ने सुबह से शाम तक सिरपुर के विभिन्न हिस्सों की शूटिंग की. टीम सोमवार की सुबह वापस रवाना हुई. डॉ. शर्मा ने बताया कि विदेशों में भी लोगों द्वारा दूसरे ग्रहों से आई हुई उडनतश्तरियां समय-समय पर देखे जाने के समाचार मिलते ही रहते हैं. इस तरह की बातों को काल्पनिक नहीं कहा जा सकता, क्योंकि समय-समय पर उनके प्रमाण मिलते रहे हैं.
उन्होंने बताया कि सिरपुर उत्खनन में बाजार क्षेत्र से करीब 2600 वर्ष पुरानी पकाई हुई मिट्टी के पुतले मिले हैं, जिन्हें सामान्य खिलौना नहीं कहा जा सकता. इनमें कुछ ऐसे हैं, जो पाश्चात्य देशों में मिले एलियंस के नाम से विख्यात मूर्तियों के ही समान हैं. कुछ में तो एलियंस के चेहरों और मास्क में इतनी समानता है कि इन्हें आज से 2600 वर्ष पहले सिरपुर के कलाकारों ने बनाया, जबकि उनका विदेशों से कोई संबंध ही नहीं था. डॉ. शर्मा बताते हैं कि जब कुछ पाश्चात्य वैज्ञानिक सिरपुर आए, तब उन्हें इन मूर्तियों को दिखाया गया तो वे भी उनकी कल्पना एवं सिरपुर के कारीगर की कल्पना में समानता से आश्चर्यचकित हो गए. उनका मानना है कि जब तक बनाने वाले इन एलियन को नहीं देखा होगा, तब तक ऐसी सौ प्रतिशत समानता नहीं आ सकती. इससे साफ जाहिर है कि सिरपुर जैसे संपन्न एवं विकसित वाणिज्यिक इलाके में दूसरे ग्रहों के ये प्राणी आए होंगे.

Previous 21 करोड़ का भैंसा, हर दिन पीता है अलग-अलग अंग्रेजी शराब
Next पुलिस का डंडा छीनकर लड़की ने की मनचलों की पिटाई

About author

You might also like

छत्तीसगढ़ 0 Comments

एक्सटेंशन रिफार्मस ‘आत्मा’ योजनान्तर्गत कृषि वैज्ञानिक परिचर्चा का आयोजन

राजनांदगांव : कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा शहीद वीर नारायण सिंह कृषक सूचना एवं सलाह केन्द्र, राजनांदगांव में बुधवार 8 मार्च को एक्सटेंशन रिफार्मस ”आत्मा” योजनांतर्गत कृषक वैज्ञानिक परिचर्चा कार्यक्रम का

छत्तीसगढ़ 0 Comments

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर स्वच्छता चौपालन

महासमुंद : अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर कल 8 मार्च को पिथौरा विकासखंड के ग्राम सोनासिल्ली, गोड़बहाल, सिरको, जंघोरा एवं मेमरा में स्वच्छता चौपालन का आयोजन कर स्वच्छता के

छत्तीसगढ़ 0 Comments

राज्य के सुशासन और विकास का प्रतिबिंब है यह बजट- बृजमोहन

रायपुर : आज विधानसभा में प्रस्तुत छत्तीसगढ़ सरकार के बजट की प्रदेश के कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सराहना की है और इसे जनहितैषी बजट करार देते हुए प्रदेश

छत्तीसगढ़ 0 Comments

हरिप्रसाद की छुट्टी, वासनिक होंगे छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नये प्रभारी

¤ उड़ीसा पंचायत चुनाव में हार बनी वजह…सभी पदों से इस्तीफा नयी दिल्ली. खबर है कि बीके हरिप्रसाद की छत्तीसगढ़ के प्रभारी पद से छुट्टी हो गयी है। चर्चा है

राज्य 0 Comments

पेट्रोल पम्प और मेडिकल बंद, मरीज और मुसाफिर परेशान

रायपुर : रायपुर में आज पेट्रोल-डीजल के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है, वहीँ लोगों को दवाईयों के लिए भी तरसना पड़ रहा है. चैंबर आफ कामर्स के छत्तीसगढ़ बंद

छत्तीसगढ़ 0 Comments

31वीं फेडरेशन कप हैंडबाल चैम्पियनशिप में भाग लेने के पूर्व छत्तीसगढ़ राज्य की सीनियर पुरुष एवं महिला हैंडबाल हेतु चयन स्पर्धा

रायपुर : हरियाणा हैंडबाल संघ द्वारा 31वीं फेडरेशन कप हैंडबाल चैम्पियनशिप का आयोजन नरवाना (हरियाणा) में दिनांक 23 से 26 मार्च 2017 तक भारतीय हैंडबाल महासंघ के तत्वावधान में आयोजित

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!

Leave a Reply

Leave a Reply