28 मार्च से चैत्र नवरात्र शुरू

28 मार्च से चैत्र नवरात्र शुरू

चैत्र शुक्ल पक्ष के नवरात्रों के साथ ही हिंदु नवसंवत्सर शुरू हो जाता हैं। जिसकी शुरुआत 28 मार्च से होगा। चैत्र महीने में आने वाले नवरात्रें को वार्षिक नवरात्रा भी कहा जाता हैं।

नौ दिन तक मां दुर्गा के नौ स्वरूप की होने वाली यह आराधना साल के दो पखवाड़ों में अहम होते हैं। एक आराधना को चैत्र माह की और दूसरी शारदीय नवरात्र जो अश्विन माह में मनाया जाता हैं। 28 मार्च से शुरू होने वाले यह चैत्र नवरात्र पांच अप्रेल तक चलेंगे।

28 मार्च: नवरात्र का पहले दिन मां शैलपुत्री की आराधना होती हैं। इस दिन घटस्थापना का मुहूर्त सुबहर 8:26 से लेकर 10:24 तक का हैं। पूजा में इन्हें चमेली का फूल अर्पित करना शुभ होता हैं।

29 मार्च : नवरात्र के दूसरे दिन देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। इनकी पूजा में भी चमेली का फूल अर्पित करना शुभ माना जाता हैं।

30 मार्च : नवरात्र के तीसरे दिन देवी चन्द्रघंटा की पूजा होती हैं। इन्हें भी चमेली का फूल पसंद हैं।

31 मार्च: नवऱात्र के चौथे दिन मां दुर्गा के चौथे रूप देवी कूष्मांडा की पूजा होती हैं, जिन्हें लाल रंग के फूल पसंद हैं।

1 अप्रैल: नवरात्र के पांचवा दिन माता स्कंदमाता की पूजा की जाती है। जिन्हें मां पार्वती के नाम से भी जाना जाता हैं। इन्हें पूजा में लाल रंग के फूल अर्पित करने चाहिए।

2 अप्रैल: चैत्र नवरात्र के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा का होती हैं। जिन्हें लाल रंग के फूल खासकर गुलाब का फूल अर्पित करें।

3 अप्रैल : सातवें दिन यानि सप्तमी को मां कालरात्रि की पूजा होती हैं। जिन्हें रात की रानी का फूल पसंद हैं।

4 अप्रैल: नवरात्र के आठवें दिन मां महागौरी की पूजा की जाती है। इस दिन कई लोग कन्या पूजन भी करते हैं।

5 अप्रैल: नववरात्र के अंतिम दिन राम नवमीं होती हैंं। पूजा का मुहूर्त सुबह 11: 09 ​से 1: 38 तक का हैं।

Previous ऐसे बढ़ाएं 3जी-4जी डेटा की स्पीड
Next कुरकुरी मटर समोसा चाट

About author

You might also like

धर्म/अध्यात्म 0 Comments

आज से शुरू हो रहा है होलाष्टक

शास्त्रों के अनुसार होलिका दहन के आठ दिन पूर्व होलाष्टक लग जाता है। होली की सूचना होलाष्टक से प्राप्त होती है। फाल्गुन शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि से लेकर होलिका

धर्म/अध्यात्म 0 Comments

भूलकर भी न पहने ऐसा मोती

ज्योतिष में मनुष्य की समस्याओं के समाधान के लिए रत्नों को पहने की सलाह दी जाती है लेकिन रत्न की परख कैसे करें यह बहुत बड़ा सवाल है। अगर रत्न

धर्म/अध्यात्म 0 Comments

Thursday को करें ये उपाय, मनचाहे Partner से तुरंत होगी पक्की बात

शादी न केवल दो लोगों के बीच बंधा बंधन है बल्कि उनके साथ-साथ सामाजिक बंधन भी जुड़ जाता है। कहा जाता है कि जोड़ियां स्वर्ग में बनती हैं। विवाह समारोह,

धर्म/अध्यात्म 0 Comments

जिस घर में हर शुक्रवार होता है ये काम, वहां कभी नहीं रहता धन का अभाव

धन को प्राप्त करने के लिए जरुरत है मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने की। इसका सरल एवं उत्तम साधन है स्फटिक श्री यंत्र। श्री का अर्थ है धन और यंत्र

धर्म/अध्यात्म 0 Comments

मंगलवार को करें ये उपाय, खुलेगा किस्मत का ताला

अगर आपको लग रहा है कि सफलता हाथ लगते-लगते चूक जाती है और कहीं भी कामयाबी हासिल नहीं हो रही है, तो मंगलवार को कुछ उपाय करें. आपको निश्च‍ित तौर

धर्म/अध्यात्म 0 Comments

कोई भी काम पूरा नहीं होने देता कालसर्प दोष

प्राचीन ज्योतिष ग्रंथों में कालसर्प योग का उल्लेख नहीं मिलता है लेकिन व्यवहारिक दृष्टि से यह योग जातक को बहुत विचलित करता है। जब कुंडली मे सातों ग्रह राहु और

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!

Leave a Reply

Leave a Reply