नक्सल कमांडर ने बताई सुकमा हमले की कहानी

नक्सल कमांडर ने बताई सुकमा हमले की कहानी

रायपुर. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में बुरकापाल हमले में शामिल नक्सली ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है. सुकमा जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पिछले महीने जिले के बुरकापाल हमले में शामिल जनमिलिशिया डिप्टी कमांडर और नक्सली सहयोगी पोडि़याम पाण्डू उर्फ पंडा (45) ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है. पंडा ने इस महीने की नौ तारीख को आत्मसमर्पण किया था जिसे आज मीडिया के सामने लाया गया.

पुलिस अधिकारियों ने कहा, पंडा ने पुलिस को बताया है कि उसने दिल्ली के सामाजिक कार्यकर्ताओं की मुलाकात नक्सली नेताओं से करवाने में मदद की थी. पंडा चिंतागुफा गांव का पूर्व सरपंच है, वर्तमान में उसकी पत्नी गांव की सरपंच है. उन्होंने कहा, पंडा ने पुलिस को जानकारी दी है कि नक्सली बुरकापाल में हमले की तैयारी पहले से ही कर रहे थे. वह 15 अप्रैल से ही चिंतागुफा और बुरकापाल क्षेत्र में सुरक्षा बलों की गतिविधियों पर नजर रख रहे थे. जिसके बाद ही 24 अप्रैल को घटना को अंजाम दिया गया. इस घटना में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए थे.

पंडा ने पुलिस को बताया कि घटना के दिन 24 अप्रैल को सीआरपीएफ का दल जब अपने शिविर से निकला तब इसकी जानकारी नक्सली सदस्यों ने अपने कमांडरों तक पहुंचाई. इस दौरान हथियारबंद नक्सली बुरकापाल से लगभग आठ किलोमीटर दूर कासलपाड़ा गांव के करीब मौजूद थे.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों के बारे में जानकारी मिलने के बाद नक्सलियों ने एक घंटे के दौरान ही क्षेत्र में घेराबंदी की और लगभग 11.30 बजे पुलिस दल पर हमला शुरू कर दिया. हमले के समय पंडा इंसास रायफल से गोलीबारी कर रहा था.

उन्होंने बताया कि घटना के बाद पंडा और उसके साथियों ने जवाबी कार्रवाई के दौरान घायल नक्सलियों और मारे गए नक्सली कमांडर अनिल के शव को कासलपाड़ा गांव पहुंचाया. इसके बाद पंडा अपना हथियार माओवादी कमंाडर अुर्जन को सौंप दिया और अपने गांव लौट गया. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस महीने की सात तारीख को पंडा चिंतागुफा थाने की पुलिस के संपर्क में आया और उसने समाज की मुख्यधारा में लौटने की इच्छा जताई. बाद में उसे सुकमा लाया गया और उसने नौ मई को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया.

Previous विधायक अशोक सिंह की हत्या मामले में RJD नेता प्रभुनाथ सिंह दोषी करार
Next केंद्र ने सेना को दी सीमा पर कार्रवाई की छूट

About author

You might also like

छत्तीसगढ़ 0 Comments

तीन दिनों की आग से 6 करोड़ का नुकसान

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से अग्नि देव जैसे नाराज हो गए हैं. नाराजगी का आलम ये है कि राजधानी में तीन दिनों से लगातार आगजनी की घटनाएं हो रही है.

छत्तीसगढ़ 0 Comments

लोदाम शिविर में 109 कुएं, 11 तालाब और 10 डबरी निर्माण की मिली स्वीकृति

रायपुर : लोक सुराज अभियान के तहत आज गुरूवार को जशपुर जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत लोदाम में समाधान शिविर का आयोजन हुआ। शिविर में लोदाम कलस्टर में कुआं, तालाब,

छत्तीसगढ़ 0 Comments

जीवन में आगे बढऩे के लिए संघर्ष करना जरूरी : ओपी चौधरी

रायपुर : जिलाधीश ओपी चौधरी ने कहा कि जीवन में आगे बढऩे के लिए संघर्ष जरूरी है। कलेक्टर, कमिश्नर बनना कोई बड़ी बात नहीं है, बड़ी बात है एक अच्छा

छत्तीसगढ़ 0 Comments

शहीद भगत सिंह चौक पर मिठाई वितरण कर मनाई खुशियां

रायपुर : मंगलवार सुबह प्रत्येक भारतीय की आन बान शान का प्रतिक भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान के आतंकी ठिकानो एवं चौकियों पर की गई कार्यवाही एक प्रकार का दूसरा सर्जिकल

छत्तीसगढ़ 0 Comments

गरियाबंद में खुलेगा किसान उपभोक्ता बाजार

रायपुर : कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने जिला मुख्यालय गरियाबंद में किसान-उपभोक्ता बाजार शुरू करने की स्वीकृति दी है। इसके लिए उन्होंने 50 लाख रूपए मंजूर किए हैं। श्री अग्रवाल

बड़ी खबर 0 Comments

मोबाइल नंबर के लिए AADHAR जरूरी

नई दिल्लीः इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए आधार कार्ड को जरूरी किए जाने के बाद अब मोबाइल नंबर के लिए भी आधार अनिवार्य करने की तैयारी की जा

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!