HPU का इस बार भी घाटे का बजट होगा पारित!

HPU का इस बार भी घाटे का बजट होगा पारित!

शिमला: हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एच.पी.यू.) में इस बार भी घाटे का बजट पारित होगा। विश्वविद्यालय की वर्तमान वित्तीय स्थिति को देखते हुए और हाल ही में हुई शिक्षकों व गैर-शिक्षक कर्मचारियों की नियुक्तियों के चलते विश्वविद्यालय पर आर्थिक भार पड़ा है। ऐसे में अब हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय प्रशासन की नजरें एक बार फिर प्रदेश सरकार द्वारा पेश किए जाने वाले बजट पर टिक गई हैं। प्रदेश सरकार का बजट विधानसभा में आगामी 10 मार्च को पेश होगा और इस बजट के दौरान एक बार फिर विश्वविद्यालय को सालाना बजट में वृद्धि की आस है। विश्वविद्यालय ने प्रदेश सरकार से वित्त वर्ष 2017-18 के लिए 110 करोड़ रुपए मांगें हैं। बताते हैं कि 10 मार्च को प्रदेश सरकार द्वारा बजट पेश किए जाने के बाद हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद (ई.सी.) में विश्वविद्यालय के आगामी वित्त वर्ष के बजट में मोहर लगेगी।

सभी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए अतिरिक्त बजट की आवश्यकता
ई.सी. की बैठक 31 मार्च से पूर्व होगी, जिसमें विश्वविद्यालय का बजट पारित किया जाएगा। गौरतलब है कि बीते वर्ष 2016 में करीब 60 शिक्षकों के पदों को भरा गया जबकि 43 जूनियर ऑफिस असिस्टैंट आई.टी. के पदों को भरा गया था। योजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए अतिरिक्त बजट की आवश्यकता हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय ने विजन 2020 के तहत कई योजनाएं प्रस्तावित की हैं। इन सभी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए अतिरिक्त बजट की आवश्यकता है। साल दर साल वित्तीय घाटे के चलते विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा इन योजनाओं को अमलीजामा नहीं पहनाया जा सका है। विश्वविद्यालय का परिसर विस्तार प्रस्तावित है, जिसके लिए घणाहट्टी में भूमि चयनित की जा चुकी है। इसके अलावा नए कोर्स शुरू किए जाने प्रस्तावित हैं।

96 पदों को भरने के लिए पदों को किया विज्ञापित
मांग के अनुरूप बढ़ा बजट तो भी रहेगी वित्तीय तंगी हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय ने प्रदेश सरकार से वित्त वर्ष 2017-18 के लिए 110 करोड़ रुपए मांगे हैं जोकि बीते वर्षों की मांग की तुलना में बेहद कम है। भले ही विश्वविद्यालय की मांग के अनुरूप बजट में वृद्धि होती है तो भी विश्वविद्यालय के समक्ष वित्तीय तंगी रहने की संभावना अधिक है क्योंकि शिक्षकों व गैर-शिक्षक कर्मचारियों की नई भर्तियां होने से विश्वविद्यालय पर आर्थिक भार पड़ेगा और आगामी दिनों में शिक्षकों व गैर-शिक्षक कर्मचारियों के और पद भरना प्रस्तावित हैं, जिन्हें विज्ञापित किया जा चुका है। इस वर्ष शिक्षकों के 96 पदों को भरने के लिए पदों को विज्ञापित कर दिया है और गैर-शिक्षक कर्मचारियों के भी करीब 54 पदों को भरने की प्रक्रिया शीघ्र शुरू होने को है।

Previous सिरमौर के बाद अब यहां शिकारियों के जाल में फंसी मादा तेंदुआ, मिली दर्दनाक मौत
Next राजनाथ का अखिलेश पर हमला, कहा- सपा सरकार ने विकास के नाम पर जनता को छला

About author

You might also like

हिमाचल प्रदेश 0 Comments

HP Board 12th Result 2017: रिजल्ट जारी, यहां करें चेक

हिमाचल प्रदेश बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन (HPBOSE) ने 12वीं बोर्ड के रिजल्ट जारी कर दिए हैं। रिजल्ट बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट(hpbose.org) पर चेक किया जा सकता है। रिजल्ट चेक करने

हिमाचल प्रदेश 0 Comments

मनाली के बाद अब शिमला में भी बर्फबारी

मार्च के महीने में पहाड़ों पर एक बार फिर बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो गया है। मनाली के बाद अब शिमला में बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है। बर्फबारी

राजनीति 0 Comments

मोदी का शिमला दौरा, रैली से पहले रोड शो करेंगे पीएम

शिमला : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को शिमला आ रहे हैं। वे शिमलावासियों के बीच लगभग ढाई घंटे तक रहेंगे। मोदी करीब एक बजे शिमला के रिज मैदान से भाजपा

राष्ट्रीय 0 Comments

हिमाचल दिवस पर CM का बड़ा ऐलान

‌चंबा : हिमाचल दिवस के मौके पर हजारों अनुबंध कर्मचारियों को सीएम वीरभद्र सिंह ने बड़ा तोहफा दे दिया। चंबा में हुए हिमाचल दिवस समारोह में सीएम वीरभद्र सिंह ने

हिमाचल प्रदेश 0 Comments

अप्रैल में लाहौल घाटी में दिसंबर सी बर्फ

उदयपुर : हिमाचल के इस जिले में अप्रैल के महीने में दिसंबर जैसा मौसम देखने को मिल रहा है। अप्रैल में लाहौल घाटी में हुई बर्फबारी से हर कोई हैरान

अजब गजब 0 Comments

इस कैफे में कैदी परोसते हैं पिज्जा

शिमला : शिमला में एक कैफे में कुकीज तथा पिज्जा परोसने के लिए कैदियों को एक नामी होटल ने प्रशिक्षित किया है. बुक कैफे नामक कैफे में 40 लोगों के

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!