अब मध्य प्रदेश के छात्र हिंदी में पढ़ेंगे इंजीनियरिंग

छात्रों को एडमिशन के वक्त हिंदी या अंग्रेजी में से एक चुनने की आजादी होगी

अब मध्य प्रदेश के छात्र हिंदी में पढ़ेंगे इंजीनियरिंग

मध्य प्रदेश सरकार ने अपने एक फैसले में नए अकादमिक सत्र से इंजीनियरिंग को भी हिंदी में पढ़ाने का फैसला किया है। इस फैसले के बाद जहां एक तरफ छात्र और शिक्षक कुछ टेक्निकल शब्दों जैसे सरफेस टेंशन और ओसमोसिस की हिंदी मीनिंग तलाश रहे हैं वहीं दूसरी तरफ हिंदी में कोई भी टेक बुक उपलब्ध नहीं है।

फैसले को लेकर कंफर्मेशन देते हुए एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि छात्रों को एडमिशन के वक्त हिंदी या अंग्रेजी में से एक चुनने की आजादी होगी। यह फैसला मंगलवार को राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में एक मीटिंग के दौरान लिया गया।

कुछ सीनियर शिक्षाविदों ने इस फैसले को क्रिटिसाइज किया है और कहा कि यह कोई प्रगति का कदम नहीं है और न ही इससे इंजीनियरिंग के छात्रों को नौकरी पाने में कुछ फायदा होगा।

एक प्रोफेसर ने कहा कि, “इंजीनियरिंग को हिंदी में पढ़ाने से कोई फायदा नही है जबकि हिंदी में एक भी किताब उपलब्ध नही है। आप कैसे टेक्निकल टर्म्स को ट्रांसलेट करेंगे।”

इस पर तकनीकि शिक्षा मंत्री का कहना था कि आपको टेक्निकल टर्म्स को ट्रांसलेट करने की कोई जरूरत नही है। आप उनको वैसे का वैसा हिंदी में लिखिए। यह फैसला अंग्रेजी में कमजोर छात्रों को ध्यान में रख कर लिया गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक अभी तक यूनिवर्सिटी ने हिंदी के लिए अलग क्लास की कोई योजना नहीं बनाई है। ऐसा मान के चला जा रहा है कि कॉलेजों में शिक्षक हिंदी में ही पढ़ाते हैं।

Previous सरकार ने माना- हरिद्वार में भी मैली है गंगा
Next कपिल सिब्बल का दावा- पर्सनल लॉ पर एनडीए सरकार ले रही यू-टर्न

About author

You might also like

मध्यप्रदेश 0 Comments

ईव्हीएम को लोकतंत्र का सबसे बड़ा खतरा बताया था बीजेपी ने, आडवाणी ने लिखी थी किताब की प्रस्तावना

भोपाल। उत्तर प्रदेश में मिली करारी हार के बाद बसपा प्रमुख मायावती ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर सवाल उठाए हैं इसके बाद दिल्ली एमसीडी चुनाव में इलेट्रॉनिक वोटिंग मशीन की

मध्यप्रदेश 0 Comments

शादी में मोर जैसी कार सजाकर लाया तो दंबंगो ने दलित दूल्हे संग बारातियों को भी पीटा

यहां समीपस्थ ग्राम देरी में दलित दूल्हा को मोर के लुक में सजी कार पर सवार देखकर दबंग भड़क गये और उन्होंने दूल्हा सहित सात बरातियों की पिटाई कर दी।

मध्यप्रदेश 0 Comments

शहरी गरीबों को आवास देने का काम मप्र में बेहद सुस्त

शहरी गरीबों और झुग्गी बस्तियों में रहने वालों को मकान देने की केंद्र सरकार की विभिन्न् योजनाओं का काम मध्यप्रदेश में बेहद सुस्त गति से चल रहा है। आलम यह

मध्यप्रदेश 0 Comments

आप भी बन सकते हैं सूचना आयुक्त, टेलर और नाई ने भी दिया आवेदन

भोपाल. मध्य प्रदेश में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की ताजपोशी के बाद राज्य सूचना आयुक्त की नियुक्ति को लेकर कवायद तेज होती नजर आ रही है. लेकिन इस कवायद के

मध्यप्रदेश 0 Comments

10 लाख से बदल रही है खस्ता लो फ्लोर बस स्टॉपों की हालत

ब्लिक ट्रांसपोर्ट के तहत शहर के विभिन्न रूटों पर लो फ्लोर बसें संचालित करने के लिए जो बस स्टॉप बनाए गए हैं, उनको 10 लाख रुपये की लागत से दुरुस्त

मध्यप्रदेश 0 Comments

सोशल पर फैलें अफ़वाहों का सीएम ने किया खंडन, अफ़वाहों पर न दें ध्यान

भोपाल। एक लंबे समय से मध्यप्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर तरह-तरह की अफवाहें फैल रही हैं, लेकिन पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के बाद अब जिस अफवाह ने

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!