इंश्‍योरेंस कंपनी ने जारी किया सर्कुलर, इन दवाइयों पर नहीं मिलेगा मेडिक्‍लेम

मैक्स बूपा के इस सर्कुलर को 5 मई से लागू होना था

इंश्‍योरेंस कंपनी ने जारी किया सर्कुलर, इन दवाइयों पर नहीं मिलेगा मेडिक्‍लेम

हेल्थ इंश्योंरेंश कंपनी अपनी पॉलिसी में बदलाव कर रही हैं। हाल ही में मैक्स बूपा इंश्योरेंश कंपनी ने इंडियन मेडिकल असोसिएशन (आईएमए) के डॉक्टरों को एक सर्कुलर जारी करके कहा था कि आपके अस्पतालों द्वारा किए गए सभी मेडिक्लेम रोक दिए जाएंगे। सिर्फ जेनेरिक दवाओं वाले क्लेम ही पास किए जाएंगे। इस पर डॉक्टरों का कहना है कि केवल जेनेरिक दवाओं से किसी का इलाज करना संभव नहीं है। कैंसर जैसी कुछ गंभीर बीमारियां ऐसी होती हैं जिनकी दवाएं केवल ब्रैंड की ही उपलब्ध होती हैं। मैक्स बूपा के इस सर्कुलर को 5 मई से लागू होना था। मैक्स बूपा के इस सर्कुलर पर आईएमए ने नाराजगी जताई और लिखा कि जेनेरिक दवाओं से हर बीमारी का इलाज नहीं किया जा सकता है।

पुणे मिरर के मुताबिक हॉस्पिटल बोर्ड ऑफ इंडिया की पुणे इकाई के चेयरमैन डॉ संजय पाटिल ने कहा, हमने उन्हें 9 मई को लिखा था कि डॉक्टरों के लिए केवल जेनेरिक दवाएं लिखना असंभव है। उचित दवा और ब्रैंड चुनने की आजादी मेडिकल स्टोर और इंश्योरेंश कंपनी के पास नहीं डॉक्टरों के पास है। जेनेरिक दवाओं की कोई उचित परिभाषा नहीं है और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक जेनेरिक दवाएं वे होती हैं जो पेटेंटेड होती हैं और ऑरिजिनल मैन्युफैक्चरर के लाइसेंस के बिना बेची जाती हैं। 21 अप्रैल 2017 को मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने एक सर्कुलर जारी किया था जिसके मुताबिक, सभी फिजिशन स्पष्ट रूप से और बडे अक्षरों में जेनेरिक दवाएं लिखेंगे साथ ही यह भी सुनिश्चित करेंगे कि उसका नुस्खा और उपयोग भी लिखा हो।

क्या होती हैं जेनेरिक दवाएं?
किसी बीमारी के इलाज के लिए एक रसायन (सॉल्ट) तैयार किया जाता है जिसे दवा की शक्ल दे दी जाती है। कंपनियां अलग-अलग नामों से इस सॉल्ट को बेचती है। इस सॉल्ट का जेनेरिक नाम सॉल्ट के कंपोजिशन और बीमारी का ध्यान में रखते हुए एक विशेष समिति द्वारा निर्धारित किया जाता है। किसी भी सॉल्ट का जेनेरिक नाम पूरी दुनिया में एक ही रहता है। इन दवाओं की कीमत का निर्धारण सरकार के हस्तक्षेप से होता है इसीलिए यह सस्ती पड़ती हैं। केंद्र सरकार चाहती है कि जो दवाएं पेटेंट नहीं हैं डॉक्टर उन्हें जेनेरिक के जरिए पर्ची पर लिखें। इससे लोगों को सस्ती दवाएं मिल सकेंगी।

Previous झूठ बोलने पर फेसबुक पर लगा 789 करोड़ का जुर्माना
Next सेना का 30 साल का इंतजार हुआ खत्म.. मिलीं हॉवित्जर तोपें

About author

You might also like

क्रिकेट 0 Comments

रोमांचक मैच में मनीष की धांसू पारी केकेआर ने दिल्ली को हराया

नई दिल्ली. कोलकाता नाइट राइडर्स ने दिल्ली डेयरडेविल्स को 4 विकेट से हराकर अपनी चौथी जीत हासिल की. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली ने 168 रन बनाए. मनीष

ब्रेकिंग 0 Comments

आज दिल्ली जाएंगे योगी, पीएम-राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात

नई दिल्ली : यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी आज दिल्ली आ रहे हैं। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से यहां वो मुलाकात करेंगे। बताया जा रहा है कि शाह से मुलाकात

राष्ट्रीय 0 Comments

दीवार ढहने से लड़के की मौत

नयी दिल्ली : बवाना इलाके के पुठखुर्द गांव में आज शाम दीवार ढहने से छह वर्षीय एक लड़के की मौत हो गई जबकि उसका आठ वर्षीय भाई जख्मी हो गया।

राष्ट्रीय 0 Comments

लिंगराज मंदिर गए पीएम नरेंद्र मोदी, किया स्वतंत्रता सेनानियों के परिजनों का सम्मान

बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के दूसरे दिन की बैठक से पहले पीएम नरेंद्र मोदी आज भुवनेश्वर के लिंगराज मंदिर पहुंचे जहां उन्होंने पूजा अर्चना की. लिंगराज मंदिर जाने से पहले पीएम

राष्ट्रीय 0 Comments

राजनाथ की आलोचना करने वाला जवान पहुंचा उच्च न्यायालय

नई दिल्ली : छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलवादी हमले में सीआरपीएफ जवानों की मौत के बाद सोशल मीडिया पर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की आलोचना करने वाले सीआरपीएफ के

राष्ट्रीय 0 Comments

अन्नाद्रमुक के बागियों ने बनाया नया संसदीय बोर्ड

चेन्नई. जयललिता के निधन के बाद अन्नाद्रमुक में उनकी विरासत को लेकर शुरू विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. पूर्व मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम के नेतृत्व वाले पार्टी के

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!