Nitish Kumar ने पीएम मोदी पर साधा निशाना-मां गंगा खोज रही अपना बेटा?

यूपी चुनावों के मद्देनजर ‘गंगा मैय्या’ की चर्चा एक बार फिर नेताओं की जुबान पर चढ़ने लगी है. अभी पिछले दिनों जब नरेंद्र मोदी ने फतेहपुर में एक रैली में कहा था कि यूपी में बिजली नहीं आती तो पलटवार करते हुए राज्‍य के मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने उनसे सवालिया लहजे में पूछा था कि आप तो गंगा मैया के बेटे हैं तो उन्‍हीं की कसम खाकर बताइए कि क्‍या बनारस में 24 घंटे बिजली नहीं रहती. नरेंद्र मोदी बनारस संसदीय सीट से ही लोकसभा सदस्‍य हैं.

गंगा मैया की चर्चा करने वाले नेताओं की ताजा कड़ी में बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का नाम जुड़ गया है. नोटबंदी का समर्थन करने वाले नीतीश कुमार ने शनिवार को पटना में पीएम मोदी पर खास अंदाज में चुटकी लेते हुए कहा, ”पीएम कहते हैं, मां गंगा ने बुलाया है, लेकिन हम बनारस गए तो लोग कह रहे थे कि गंगा मां खोज रही थी, कहां गया मेरा बेटा.” दरअसल नीतीश कुमार पिछले लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के बयान की पृष्‍ठभूमि में अपनी बात कह रहे थे. दरअसल उस दौरान टीवी विज्ञापनों और बनारस की रैली में पीएम मोदी ने कहा था, ”मैं यहां आया नहीं हूं बल्कि मुझे तो मां गंगा ने बुलाया है.”

नीतीश कुमार ने शनिवार को पटना में गंगा की अविरलता से जुड़े एक कार्यक्रम के दौरान यह बात कही. कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए बिहार के मुख्‍यमंत्री ने कहा कि गंगा की स्थिति को देखकर रोना आता है. इस मुद्दे पर राजद नेता लालू प्रसाद यादव ने भी कुछ दिन पहले पीएम मोदी पर निशाना साधा था. इस दौरान उन्‍होंने कहा था,”मोदी ने कहा कि हमको गंगा मां ने बुलाया था. गंगा मां कब बुलाती हैं.”

नीतीश कुमार ने अपना बयान गंगा की अविरलता से जुड़े कार्यक्रम में दिया. इसके साथ ही गंगा नदी में पानी का बहाव घटने और फरक्का बांध के कारण नदी में बढ़ते गाद पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गंभीर चिंता जताई. उन्होंने कहा कि फरक्का बांध के कारण राज्य में हर वर्ष बाढ़ आ रही है. कुमार ने बक्सर में जलाशय बनाने और इलाहाबाद-हल्दिया राष्ट्रीय जलमार्ग के रास्ते में उत्तर प्रदेश के अन्य स्थानों पर जलाशय बनाने के प्रस्ताव पर भी चिंता जताई. वह यहां गंगा पर अंतरराष्ट्रीय सेमिनार का उद्घाटन करने के बाद बोल रहे थे. दो दिवसीय सेमिनार का आयोजन राज्य के जल संसाधन विभाग ने किया है जिसका विषय है ‘अविरल गंगा’ और इसमें देश-विदेश में पर्यावरण और जल प्रबंधन पर काम करने वाले लोग शिरकत कर रहे हैं.

Previous chhattisgarh assembly : विपक्ष के हंगामे के बीच बजट सत्र शुरू
Next शिक्षण संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा नहीं बनने देंगे : वीरभद्र

About author

You might also like

ब्रेकिंग 0 Comments

अब अंगूठे से होगी पेमेंट, अर्थव्यवस्था का महारथी बनेगा : PM मोदी

डॉ. बी आर अंबेडकर की जंयती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भीम आधार-पे फैसेलिटी को लॉन्च किया। उन्हें श्रद्धाजंलि देने के लिए नागपुर के दीक्षाभूमि पहुंचे हैं। पीएम

राष्ट्रीय 0 Comments

केरल में ब्रेन डेथ प्रमाणन सरकारी निगरानी में

तिरूवनंतपुरम : केरल सरकार ने राज्य के अस्पतालों में ब्रेन डेथ के प्रमाणन के लिए सरकारी डॉक्टरों की मौजूदगी को अनिवार्य कर दिया है । स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के

राष्ट्रीय 0 Comments

नौसेना के नाविकों ने की अपने अफसर की पिटाई

भारतीय नौसेना ने आईएनएस सांध्यक पर तैनात चार युवा नाविकों की ओर से कथित तौर पर अपने वरिष्ठ अधिकारियों का आदेश नहीं मानने के मामले में बोर्ड ऑफ इन्क्वायरी के

दिल्ली 0 Comments

दिल्ली-न्यूयॉर्क एयर इंडिया के विमान में तकनीकी खराबी

नई दिल्ली : सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया के विमान में तकनीक खराबी के कारण उसकी दिल्ली-न्यूयॉर्क उड़ान टालनी पड़ी है। अब ये विमान आज शाम पांच बजे न्यूयॉर्क

राष्ट्रीय 0 Comments

सत्ता के लिए पार्रिकर को बोरिया बिस्तर बांधकर गोवा लौटना पड़ा: सामना

शिवसेना ने सामना के जरिए गोवा में मनोहर पार्रिकर को मुख्यमंत्री बनाए जाने को लेकर केंद्र सरकार पर तंज कसा है। शिवसेना के आधिकारिक अखबार सामना में लिखा गया है।

राष्ट्रीय 0 Comments

कल शाम पांच बजे गोवा के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेंगे पर्रीकर

पणजी/नई दिल्‍ली: गोवा विधानसभा चुनाव के बाद तेजी से बदले सियासी घटनाक्रम में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने रक्षा मंत्री के पद से इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने प्रधानमंत्री को

0 Comments

No Comments Yet!

You can be first to comment this post!