सोमवार, मई 16, 2022

आलेख : छत्तीसगढ़ में सबको सस्ती बिजली

Must Read

किसी देश या राज्य के जीवन स्तर का अंदाजा वहां के निवासियों द्वारा की जाने वाली विद्युत खपत के देखकर लगाया जाता है। विकसित देशों में प्रति व्यक्ति विद्युत की खपत बहुत ज्यादा होती है। देश में पावर हब की पहचान बना चुके छत्तीसगढ़ में लगातर प्रति व्यक्ति विद्युत खपत में बढ़ोत्तरी हो रही है। नई राज्य सरकार ने यहां के लोगों के जीवन स्तर में तेजी से बदलाव और विद्युत सुविधाओं का लाभ दिलाने के लिए विद्युत अधोसंरचना को न सिर्फ मजबूत बनाया है, वहीं आम जन के लिए सस्ती बिजली की उपलब्धता भी सुनिश्चित की है।

राज्य में नई सरकार के गठन के बाद अपने घोषणा पत्र में किए गए वायदे के अनुरूप मार्च 2019 से हाफ बिजली बिल योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इससे गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को जीवन स्तर में परिवर्तन आया है। इस योजना में घरेलू उपभोक्ताओं को 400 यूनिट तक की बिजली की खपत पर बिजली बिल की राशि में विद्युत दर पर आधी छूट दी जा रही है। इस योजना में लगभग 40 लाख घरेलू उपभोक्ताओं को लगभग 2222 लाख रूपए की छूट अब तक दी गई है। पिछले तीन सालों में विद्युत वितरण कम्पनियों ने नागरिक सेवाओं में भी काफी सुधार किया है। मोर बिजली एप के माध्यम से विद्युत देयकों के भुगतान तथा शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई की जाती है। इस नई सुविधा का लाभ लगभग 60 लाख विद्युत उपभोक्ताओं को मिल रहा है। इसके अलावा अत्याधुनिक केन्द्रीकृत काल सेन्टर भी बनाया गया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related News