सोमवार, मई 16, 2022

Chhattisgarh : बहादुर कलारिन के नाम पर दिया जाएगा अलंकरण सम्मान

Must Read

Chhattisgarh, 01 अप्रैल 2022 : छत्तीसगढ़ डड़सेना कलार समाज के खंड महासभा के कार्यक्रम में भाग लेने दुर्ग जिले के पाटन विकासखंड के ग्राम केसरा पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने समाज की नायिका बहादुर कलारिन के नाम पर अलंकरण सम्मान आरंभ करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि 1 नवंबर को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में यह सम्मान दिया जाएगा।

Chhattisgarh : बहादुर कलारिन के नाम पर दिया जाएगा अलंकरण सम्मान

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर केसरा में समाज के आग्रह पर सामुदायिक भवन निर्माण के लिए 25 लाख रुपए तथा डड़सेना कलार समाज द्वारा स्थापित बहादुर कलारिन महाविद्यालय को 20 लाख रुपये देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की गोधन न्याय योजना एवं गौठान मॉडल को पूरे देश में अपनाया जा रहा है।

झारखंड ने छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) सरकार द्वारा संचालित गोधन न्याय योजना जस का तस स्वीकार किया है । यहाँ के गौठान को देखने देशभर से प्रतिनिधिमंडल आ रहे हैं। यह ग्रामीण विकास के सशक्त मॉडल के रूप में स्थापित हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गौठान को ग्रामीण आजीविका केंद्र के रूप में स्थापित किया जा रहा है। इनके उत्पादों के विक्रय के लिए सीमार्ट में व्यवस्था की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा मुख्य जोर वैल्यू एडिशन को लेकर है। हमारे वनोपज को जब हमारे लोग प्रोसेस कर के ब्रांड के रूप में बेचेंगे, तो उससे अच्छी आय हासिल कर सकेंगे। कोंडागांव के तिखुर का उदाहरण भी उन्होंने दिया। पहले तिखूर छत्तीसगढ़ में हमेशा व्रत के दौरान उपयोग होता था अब इसकी पहचान देशभर में हो गई है। हमारे वनोपज में कमाल का स्वाद और पौष्टिक गुण हैं।

Chhattisgarh : वनोपज संग्राहक

हमने इनका मूल्य संवर्धन किया और अब इससे बड़ी लाभ की संभावनाएं वनोपज संग्राहकों के लिए बनी है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि बोरेन्दा की बाड़ी में महिलाओं ने 12 लाख रुपए की आय हासिल की है। यह नरवा गरवा घुरवा बाड़ी योजना का कमाल है कि ग्रामीण क्षेत्र तेजी से आर्थिक विकास की दिशा में बढ़ रहे हैं। सिन्हा समाज की प्रशंसा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज ने अपनी एकजुटता से अपने लोगों को आगे ले जाने के लिए महत्वपूर्ण कार्य किए हैं।

इस मौके पर बालोद विधायक संगीता सिन्हा ने भी अपना उद्बोधन दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की गोधन न्याय योजना जैसी योजनाओं के माध्यम से बड़े पैमाने पर लोगों को आर्थिक आय के अवसर हासिल हुए हैं। महासंघ को संघ के अध्यक्ष दीपक सिन्हा ने भी संबोधित किया। साथ ही रिसाली की महापौर शशि सिन्हा ने भी सभा को संबोधित किया।

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Related News