Chhattisgarh : कृषि विभाग की समीक्षा एवं गौधन न्याय योजना आधारित प्रशिक्षण कार्यशाला हुआ संपन्न

Must Read

बलौदाबाजार (Chhattisgarh) 11 अगस्त 2022 : कलेक्टर रजत बंसल की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभागार में कृषि विभाग के कार्यो की समीक्षा एवं गौधन न्याय योजना आधारित प्रशिक्षण कार्यशाला संपन्न हुआ। कार्य मे लापरवाही एवं धीमी गति से कार्य करने के चलते कृषि विभाग के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए कार्य मे सुधार लाने की नसीहत दी। इस दौरान बैठक में अनुपस्थित रहे 9 ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करतें हुए 7 दिनों के भीतर जवाब प्रस्तुत करनें के निर्देश दिए है।

कलेक्टर रजत बंसल ने बैठक में फसल परिवर्तन में जोर देते हुए मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना में अधिक जोर देने के निर्देश दिए है। उन्होंने साथ ही फलदार पौधे,इमारती लकड़ी का रोपण एक सप्ताह में करने कहा है। उन्होंने ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को गौधन न्याय योजना के क्रियान्वयन में सबसे महत्वपूर्ण कड़ी बताया।

यह भी पढ़ें :-Accident : यमुना नदी में पलटी सवारियों से भरी नाव…20 से ज्यादा डूबे, दो की मौत

उन्होंने आगें कहा कि गौधन न्याय योजना अंतर्गत गौठानों शत प्रतिशत में गोबर खरीदी,गुणवत्तापूर्ण वर्मी कंपोस्ट उत्पादन,गौठान प्रबंधन समिति के कार्य एंव पंचायत सचिवों से बेहतर समन्वय स्थापित कर उत्कृष्ट परिणाम देने के निर्देश दिए गए। उन्होंने आगें कहा कि आने वाले समय मे सभी गौठानो में गो मूत्र की खरीदी कि जाएगी। उस हिसाब से आप अपनी तैयारी करना प्रारंभ करें। आप किसानों को अधिक से अधिक गो मूत्र से बनें जीवामृत,बीजामृत,ब्रम्हास्त्र एवं जैविक कीटनाशक के उपयोग को प्रोत्साहन करनें के निर्देश दिए है।

जिला पंचायत सीईओ गोपाल वर्मा ने बैठक में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की विस्तृत समीक्षा की है। साथ ही उन्होंने निजी कृषि दुकानों में बिक्री हो रहे किटनाशक एवं खाद दुकानों के स्टॉक पर सतत निगरानी के निर्देश दिए है। साथ ही नकली दवाई बिक्री पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए है। प्रशिक्षण में जॉनसन जोसेफ द्वारा उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को नरवा,गरवा, घुरवा एवं बाड़ी पर विस्तृत प्रशिक्षण दिया गया।

यह भी पढ़ें :-Accident : यमुना नदी में पलटी सवारियों से भरी नाव…20 से ज्यादा डूबे, दो की मौत

जिसमें योजना आधारित प्रस्तावना, गाँव की अवधारणा, प्राकृतिक संसाधन एवं उपयोग, नरवा अवधारणा,गौठान सिद्धांत एवं संरचना,वर्मी कंपोस्ट उत्पादन,ग्रामीण आद्योगिक पार्क आवर्ती चराई सहित अन्य विषयों पर विस्तृत जानकारी प्रदान किया गया।

उक्त बैठक में जिला पंचायत सीईओ गोपाल वर्मा,उपसंचालक कृषि जोसेफ टोप्पो, सहायक संचालक सतराम पैकरा,विकासखंड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी सहित समस्त मैदानी अमला एवं एनजीओ के सदस्य गण भी उपस्थित रहे।

नोटिस जारी ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों में विकासखण्ड कसडोल संजय मिंज,किशोर मरकाम,शशिकांत ध्रुव, लिलेश्वर पटेल, सुनील धृतलहरे, निलेश डड़सेना सिमगा से भागवत सतनामी,बलौदाबाजार अरविंद उरमालिया,हेमन्त चौबे शामिल है। उक्त अधिकारी बिना जानकारी दिए बैठक में अनुपस्थिति रहें।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

RO 12141/ 126

spot_img

RO 12111/ 129

spot_img

RO- 12078/ 122

spot_img

RO - 12059/126

spot_img

RO - 12027/130

spot_img

RO - 12006/126

spot_img
spot_img

More Articles