DURG: चुनावी वादा पूरा नहीं करने पर जनता को जवाब दें मुख्यमंत्री बघेल-भाजपा प्रदेश पवक्ता

Must Read

DURG: भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी ने कहा है कि विधानसभा चुनाव के पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हाथों में गंगाजल लेकर 36 वादे किए थे। इनमें से अधिकांश चुनावी वादा पूरा नहीं कर पाए हैं इस पर मुख्यमंत्री जनता को जवाब दें। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार भ्रष्ट्राचार में डूब गई है जिसकी वजह से सरकार के खिलाफ आक्रोश का माहौल है। इस कारण 2023 के विस चुनाव में भाजपा को जनता का समर्थन मिलेगा।

CG News : स्वास्थ्य योजनाएं बेहतर तरीके से संचालित करने पर स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने दिया ज़ोर

DURG:संगठन की कार्यप्रणाली और आगे की तैयारियों की ली जानकारी

जिला भाजपा कार्यालय दुर्ग में पत्रकारों से चर्चा करते हुए भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेेश्वरी ने कहा कि दुर्ग संभाग के पार्टी नेताओं व प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक लेकर संगठन की कार्यप्रणाली और आगे की तैयारियों के संबंध में जानकारी ली। प्रदेश प्रभारी ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता को पीएम का आवास नहीं मिल रहा है। राज्य सरकार द्वारा अपने हिस्से की राशि नहीं दिए जाने के कारण करीब आठ लाख आवास नहीं बन पाए और केंद्र से जारी किया फंड लौटाना पड़ गया।

DURG:तबादला उद्योग से अधिकारियों व कर्मचारियों में नाराजगी

राज्य में रेत, सीमेंट के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। इससे लोगों को घर बनना मुश्किल हो गया है। रेत, सीमेंट, शराब की बिक्री में भ्रष्ट्राचार चरम पर है। राज्य में तबादला उद्योग चल रहा है। जिससे अधिकारियों व कर्मचारियों में भी नाराजगी है। प्रदेश का पैसा यूपी,असम के चुनाव में लगाया जा रहा है। बेरोजगारी भत्ता प्रदान न कर युवाओं से वादाखिलाफी की गई। बड़े उद्योग आज तक नहीं लग पाए।

DURG:2023 के विस चुनाव में मिलेगा जनता का आशीर्वाद

उन्होंने कहा कि 2023 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को जनता को आशीर्वाद मिलेगा। भाजपा से मुख्यमंत्री कौन होगा इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का चेहरा पार्टी हाईकमान तय करेगी हमारा काम मिलजुल कर चुनाव लड़ना है। पत्रकार वार्ता के दौरान प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु देव साय, पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह और राज्य सभा सदस्य सरोज पांडेय भी मौजूद रहीं।

DURG:मैं भी बासी खाई हूं

मजदूर दिवस को बोरे बासी दिवस के रूप में मनाए जाने के सवाल पर डी पुरंदेश्वरी ने कहा कि मैं भी बचपन में बासी खाई हूं, मेरी मां ने खिलाया है। बासी खाकर पढ़ने जाती थी। उन्होंने कहा कि बोरे बासी खाने में बुराई नहीं है लेकिन सरकार को जनता का पैसा जनता के हित में लगाना चाहिए ताकि उनका जीवन स्तर सुधर सके।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles