HERO MOTOCORP के चेयरमैन पवन मुंजाल पर ED का एक्शन, 24.95 करोड़ की संपत्ति कुर्क

Must Read

नई दिल्ली: केंद्रीय जाँच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 के प्रावधानों के तहत नई दिल्ली में हीरो मोटोकॉर्प के CMD और अध्यक्ष पवन मुंजाल की 24.95 करोड़ रुपए की तीन संपत्तियां कुर्क की हैं। जांच अधिकारियों ने कहा कि ED ने मुंजाल और अन्य के खिलाफ अवैध रूप से भारत से विदेशी मुद्रा मुद्रा ले जाने के लिए सीमा शुल्क अधिनियम, 1962 की धारा 135 के तहत राजस्व खुफिया निदेशालय (DRI) द्वारा दायर अभियोजन शिकायत के आधार पर जांच शुरू की।

इसे भी पढ़ें :-Bank Holidays : आज से लगातार 5 दिन बंद रहेंगे बैंक, यहाँ देखें छुट्टियों की लिस्ट

ख़बरों के अनुसार, अधिकारी ने कहा कि, ‘अभियोजन पक्ष की शिकायत में आरोप लगाया गया है कि रुपये के बराबर विदेशी मुद्रा/विदेशी मुद्रा। 54 करोड़ अवैध रूप से भारत से बाहर ले जाया गया।’ ED ने यह भी कहा कि जांच से पता चला है कि “मुंजाल ने अन्य व्यक्तियों के नाम पर विदेशी मुद्रा/विदेशी मुद्रा जारी की और उसके बाद उसका उपयोग विदेश में अपने निजी खर्च के लिए किया।

विभिन्न कर्मचारियों के नाम पर एक इवेंट मैनेजमेंट कंपनी द्वारा अधिकृत डीलरों से विदेशी मुद्रा/विदेशी मुद्रा निकाली गई और उसके बाद पवन कांत मुंजाल के रिलेशनशिप मैनेजर को सौंप दी गई। रिलेशनशिप मैनेजर पवन कांत मुंजाल की निजी/व्यावसायिक यात्राओं के दौरान उनके निजी खर्च के लिए ऐसी विदेशी मुद्रा को नकद/कार्ड में गुप्त रूप से ले जाता था। केंद्रीय जांच एजेंसी ने आगे बताया, उदारीकृत प्रेषण योजना के तहत प्रति व्यक्ति प्रति वर्ष 2.5 लाख अमेरिकी डॉलर की सीमा को खत्म करने के लिए यह तरीका अपनाया गया था।

इसे भी पढ़ें :-फलस्तीनी चरमपंथियों का समर्थन: प्रोफेसर के खिलाफ विद्यार्थियों ने शिकायत दर्ज कराई…

बता दें कि, 1 अगस्त को, ED ने मुंजाल और उनकी कंपनी के अन्य अधिकारियों के परिसरों पर “तलाशी अभियान” चलाया था और डिजिटल साक्ष्य और अन्य आपत्तिजनक सबूतों के साथ 25 करोड़ रुपए (लगभग) का कीमती सामान जब्त किया था। एजेंसी ने कहा कि जब्ती और कुर्की का कुल मूल्य लगभग 50 करोड़ रुपए है। मार्च 2022 में, आयकर विभाग ने कथित कर चोरी को लेकर हीरो मोटरकॉर्प के कार्यालयों पर तलाशी ली। विभाग ने मुंजाल के आवास पर भी तलाशी ली थी।

DRI (राजस्व खुफिया निदेशालय) ने साल्ट एक्सपीरियंस एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड (SEMPL) नामक तीसरे पक्ष के सेवा प्रदाता पीके मुंजाल और अमित बाली, हेमंत दहिया, केआर रमन और अन्य लोगों पर आरोप लगाते हुए एक शिकायत दर्ज की है। आरोपों में प्रतिबंधित वस्तुओं, विशेष रूप से विदेशी मुद्रा को ले जाना, निर्यात करने का प्रयास करना और अवैध निर्यात शामिल है। ED ने कहा कि SEMPL ने 2014-2015 से 2018-2019 की अवधि के दौरान विभिन्न देशों में लगभग 54 करोड़ रुपए के बराबर विदेशी मुद्रा का अवैध रूप से निर्यात किया, जिसका उपयोग अंततः पीके मुंजाल के निजी खर्चों के लिए किया गया।

इसे भी पढ़ें :-Chhattisgarh: कांग्रेस उम्मीदवार गुरु रुद्र कुमार के काफिले पर पथराव, गाड़ियों के शीशे टूटे…

SEMPL (साल्ट एक्सपीरियंस एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड) पर अपने अधिकारियों/कर्मचारियों के नाम पर लगभग 14 करोड़ रुपए की विदेशी मुद्रा प्राप्त करने का आरोप है, जिसमें हेमंत दहिया, मुदित अग्रवाल, अमित मक्कड़, गौतम कुमार, विक्रम बजाज और केतन कक्कड़ शामिल हैं। यह विभिन्न वित्तीय वर्षों में 250,000 अमेरिकी डॉलर की वार्षिक अनुमेय सीमा को पार कर गया।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles