किसान नेता Rakesh Tikait ने सेना की नई भर्ती ‘अग्निपथ’ योजना का किया विरोध

Must Read

हरिद्वार। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait ) ने केंद्र सरकार द्वारा सेना में भर्ती की घोषित नयी योजना‘अग्निपथ’ का बृहस्पतिवार को विरोध किया। उन्होंने कहा की यह योजना युवाओ खासकर किसान के बच्चों के हित में नहीं है। टिकैत ने कहा कि इस योजना का विरोध किया जाएगा और इसके खिलाफ देश भर मे बड़ा आंदोलन किया जाएगा। किसान कानून के सवाल पर उन्होंने कहा कि किसानों ने अब दिल्ली का रास्ता देख लिया है और देश मे एक बार फिर से बड़े आंदोलन की जरूरत है।

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई ‘अग्निपथ’ योजना का विरोध

हरिद्वार मे भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) का तीन दिवसीय अधिवेशन बृहस्पतिवार को शुरू हुआ। अधिवेशन के पहले दिन पत्रकारों से बात करते हुए टिकैत(Rakesh Tikait ) ने केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई ‘अग्निपथ’ योजना का विरोध करते हुए,सरकार की मंशा पर सवाल खड़े किये। उन्होंने कहा की अभी तक युवाओं को सेना मे कम से कम 15 साल की नौकरी और पेंशन मिल रही थी, लेकिन जब चार साल की नौकरी के बाद बिना पेंशन युवा घर जायेगा तों उसका आगे भविष्य क्या होगा।

टिकैत ने कहा कि‘‘फिर तो विधायक- सांसद के लिए केवल एक बार चुनाव लड़ने का कानून बनना चाहिए।’’ उन्होंने सवाल किया की ‘‘विधायक या सांसद के लिए90 साल तक की उम्र तक चुनाव लड़ सकते हैं और पेंशन भी ले सकते हैं, लेकिन युवा केवल चार साल नौकरी कर घर जाकर बैठ जाये। यह नहीं चलेगा, भाकियू अग्निपथ योजना के खिलाफ आंदोलन करेगी।’’ टिकैत ने तीन किसान कानून वापसी के मुद्दे पर कहा की कुछ कानून वापस हुए थे और कुछ पर आश्वासन मिला था, मगर वह अभी तक पूरे नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘किसानो ने दिल्ली का रास्ता देख लिया है और चार लाख ट्रैक्टर तैयार खड़े हैं। इस मुद्दे पर देश मे बड़े आंदोलन की जरूरत है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles