रविवार, मई 22, 2022

नाईट कर्फ्यू के दौरान देर रात चल रही थी हुक्का पार्टी

Must Read

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा/ संवाददाता : किरण कुमार

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सख्त निर्देश के बाद प्रदेश में हुक्काबार समेत अवैध नशीले पदार्थों की बिक्री पर शासन लगातार नजर बनाए हुए हैं। इस बीच न्यायधानी में प्रतिबंध के बाद भी अभी भी कुछ जगहों पर कैफे व फूड जंकशन की आड़ में हुक्का पिलाने का दौर चल रहा है। मंगलवार की देर रात पुलिस ने कैफे में छापेमारी करते हुए छह लड़के और दो लड़कियां हुक्का पीते हुए पकड़ा गया है। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

बता दें कि पुलिस टीम ने मिशन अस्पताल के चौपाटी स्थित वेलहल्ला कैफे में छापेमारी की, तब यहां स्टोर रूम में युवकों के साथ दो युवतियां हुक्का पीते पकड़ी गईं। इसके बाद पुलिस ने उनके परिजन को बुलाने की बात की तो युवतियां गिड़गिड़ाने लगी और ‘बोली प्लीज सर हमारे पेरेंट्स को मत बुलाइए, बदनामी हो जाएगी’।

पुलिस ने कैफे के मैनेजर मनीष चेतानी के साथ ही युवक-युवतियों को पकड़कर थाने ले गई। इस दौरान युवक और युवतियों को उनके पेरेंट्स को बुलाकर समझाइश दी गई और उन्हें छोड़ दिया गया। कैफे के मैनेजर के खिलाफ कोटपा एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। दोनों युवती शहर में रहकर PSC और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Related News