उत्तराखंड के मनोज गोरकेला को Karnataka विश्वविद्यालय ने दी LL.D. की डिग्री

Must Read

Karnataka : उत्तराखंड के दुर्गम सीमांत आदिवासी क्षेत्र में जन्मे मनोज गोरकेला को उनके राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मिली उपलब्धियां को ध्यान में रखकर कर्नाटक विश्वविद्यालय, धारवाड़ के द्वारा LL.D. की डिग्री दी जा रही है. गोरकेला  भारत के उन चुनिन्दा लोगों में व उत्तराखंड के पहले व्यक्ति है, जिन्हें कर्नाटक विश्वविद्यालय, धारवाड़ यह सम्मान दे रहा है.

Karnataka :

भारत में ही नहीं पुरे विश्व में PH.D.अलग अलग विषयों में लाखों लोग करते है, किन्तु मानक उपाधि भारत में बहुत कम लोगो को मिलती है खासतौर से कानून(विधि) में LL.D. की डिग्री तो उन लोगो को मिलती है, जिनके पास कानून की विशेषज्ञता हो, और यह डिग्री विश्वविद्यालय के अधिकारिक परिषद् (Executive Council ) के सहमति से मिलती है, और काउन्सिल में भारत के उस विश्वविद्यालय के अलग अलग विषयों के विद्वान प्रोफ़ेसर लोग होते हैं.

Karnataka :

आप सब को मुझे यह सूचित करते हुए बड़ा गर्व महसूस हो रहा है की उत्तराखंड के एक दुर्गम क्षेत्र में पैदा हुए मनोज गोरकेला को उनके द्वारा किए गए महान कार्यों के आधार पर यह उपाधि दी जा रही है. श्री गोरकेला जी ने भारत के सीमांत ज़िले से यह यात्रा प्रारम्भ की उनके पिता की मृत्यु उनके बचपन में ही हो गयी थी, घर में बड़े होने के नाते सारी जिम्मेदारियां उनके कंधो पर आ गयी थी.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles