Korba: गेटमैन हत्याकांड मामले में पांच आरोपियों को आजीवास कारावास, निरीक्षक लखनलाल पटेल की ने की थी विवेचना

Must Read

Korba: बहुचर्चित गेटमैन हत्याकांड के मामले पर माननीय न्यायालय ने पांच आरोपियों को हत्या का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।आरोपियों के खिलाफ थाना उरगा में अपराध क्र.350/2020 धारा 302,120 बी ,201 IPC के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया था,उक्त मामले की विवेचना जिले के तेजतर्रार निरीक्षक लखनलाल पटेल के द्वारा की गई थी। आरोपियों में अजय कुमार ध्रुव पिता स्व कृष्णा ध्रुव (30) साकिन ग्राम कचौरा जिला कोरबा,छतराम यादव पिता ननकी राम (34) साकिन ग्राम कचौरा जिला कोरबा,प्रेम दास महंत पिता शिव दास (28) साकिन ग्राम कचौरा जिला कोरबा,पवन कुमार श्रीवास पिता खगेश्वर प्रसाद (30) साकिन नवलपुर जिला कोरबा व शत्रुहन कुमार गोश्वामी पिता भुवन गिरी गोस्वामी (26) साकिन नवलपुर जिला कोरबा सामिल हैं।

दिनांक 18-19/10/2020 को जिला कोरबा अंतर्गत थाना उरगा पुलिस को रात्रि दरम्यान सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम नवलपुर नाका रेलवे फाटक के करीब डयूटी में तैनात गेटमैन हरेश कुमार का शव रक्तरंजित हालत में पड़ा है।जिस पर थाना निरीक्षक लखनलाल पटेल उसी दरमियान सदल मौके पर पहुचे और घटना स्थल का निरीक्षण किया जहां गेटमैन मृत अवस्था मे पाया गया।प्रथम दृष्टया मामला हत्या से जुड़ा प्रतीत हो रहा था।लिहाजा निरीक्षक लखनलाल पटेल द्वारा उच्चाधिकारियों को मामले से अवगत कराया गया।जहां मामले की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक कोरबा अभिषेक मीणा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर एवं नगर पुलिस अधीक्षक राहुल देव शर्मा के मार्गदर्शन में थाना निरीक्षक लखनलाल पटेल के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित कर मामले की विवेचना शुरू की गई।

मृतक हरेश कुमार हत्याकांड के सूचक वाल्मीकि कर्ष की सूचना पर पुलिस ने मर्ग क्रमांक 94/2020 धारा 174 जाफ़ो कायम कर मामले की विवेचना शुरू की,जहां मामला हत्या जैसा प्रतीत हो रहा था लिहाजा पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध धारा 302 का मामला पंजीबद्घ कर घटना के हरेक बिंदुओं की बारीकी से जांच प्रारंभ की।इस दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि दिनांक 18/10/2020 को नवलपुर निवासी पवन श्रीवास अपने घर मे अपने साथियों के साथ दारू मुर्गा पार्टी आयोजित किया था,जिसमे कुछ अन्य साथी भी शामिल थे।बता दे कि घटना दिनाँक को खोजी बाघा भी पवन श्रीवास के घर गया था।पुलिस को समझने में देर नही लगी और दोनों तथ्यों के आधार पर पवन श्रीवास से पूछताछ का शिलशिला शरू हुआ जहां पवन पुलिस के सवालों में फंसता चला गया और अपना जुर्म कबूल कर लिया।पवन के बताए अनुसार उक्त सभी आरोपियों को धर दबोचा गया।

हत्याकांड की वजह….

जानकारी अनुसार मृतक हरेश कुमार का विवाद आरोपी से ड्यूटी में लेट आने को लेकर हुआ करता था।जहाँ मृतक रेलवे के अधिकारियों से इनकी शिकायत भी करता था।जिस पर आरोपी को निलंबित होना पड़ा था।इसी बात को लेकर आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर सुनियोजित मुर्गा पार्टी में मृतक हरेश कुमार को ठिकाने लगाने की योजना बना डाली।सभी आरोपी एकराय होकर रात्रि के दौरान नवलपुर नाका पहुँचे जहां ड्यूटी में तैनात हरेश कुमार को जबरन पकड़कर कैबिन से बाहर निकाले और सड़क पर ही मारपीट शुरू कर दी,इसी दौरान आरोपी अजय ध्रुव ने मृतक के सिर पर फावड़े से लगातार कई बार जानलेवा वार किया जिस पर मृतक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।वहीं सभी आरोपी फरार हो गए।पतासाजी के दौरान सभी आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर पूछताछ की,जहां सभी आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया,पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर माननीय न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।

उक्त कार्यवाही में थाना निरीक्षक लखनलाल पटेल,उनि प्रहलाद राठौर,सउनि रहसलाल डहरिया,प्रआर राम पांडेय,आरक्षक विकास कौशल,तस्लीम आरिफ,ए हितेश राव,प्रकाश कुमार चंद्रा,सैनिक शांतनु राजवाड़े की अहम भूमिका रही।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

RO 12141/ 126

spot_img

RO 12111/ 129

spot_img

RO- 12172/ 127

spot_img

RO - 12027/130

spot_img

RO - 12006/126

spot_img

More Articles