Madhya Pradesh : 300 करोड़ की लागत से बन रहे बांध में रिसाव, खाली कराए गए 11 गांव

Must Read

धार/भोपाल (Madhya Pradesh) : मध्य प्रदेश के धार जिले में तीन सौ करोड़ से ज्यादा की लागत से कारम नदी पर बन रहे बांध में रिसाव हो रहा है और एक तरफ की मिटटी के ढहने से खतरा बढ़ गया है. बड़े खतरे को देखते हुए 11 गांव को खाली कराया गया है. धार जिले के भरुडपुरा और कोठीदा के बीच कारम नदी पर बांध बन रहा है. इस बांध के निर्माण पर 304 करोड़ की लागत आएगी. इस बांध के एक हिस्से से पानी का रिसाव हो रहा है और एक तरफ की दीवार की मिटटी भी ढह गई है.

पानी का रिसाव बढ़ने पर आसपास के गांव पर असर पड़ने की आशंका है, यही कारण है कि आसपास के गांव के लोगों को सतर्क किया जा रहा है, इसके लिए मुनादी भी हो रही है. इस मामले में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने बांध निर्माण में भ्रष्टाचार करने वाले अफसरों पर कार्रवाई की मांग की है. धार के जिलाधिकारी डॉ. पंकज जैन ने बताया है कि भरुडपुरा में निर्माणाधीन कारम डेम में सीपेज के कारण एतिहायत कदम उठाए गए हैं, 11 गांवों को खाली कराया गया है, वहीं आगरा-मुम्बई मार्ग के यातायात का रास्ता बदला गया है.

यह भी पढ़ें :-CG : स्वतंत्रता दिवस के 75वीं अवसर पर चेम्बर भवन में होगा राष्ट्रीय ध्वजारोहण

कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ ने अपने बयान में कारम नदी पर नवनिर्मित कोठीदा-भरुडपुरा डैम में लीकेज की खबर आने पर चिंता जताते हुए कहा, 304 करोड़ की इस योजना में शुरू से स्थानीय ग्रामीणजनों व जनप्रतिनिधियों द्वारा भ्रष्टाचार व घटिया निर्माण कार्य की शिकायत दर्ज करवायी जा रही थी लेकिन शिकायतों की अनदेखी की गयी, जिसके परिणाम स्वरूप पहली बारिश में ही यह लीकेज की घटना सामने आयी है.

यह भी पढ़ें :-Jammu and Kashmir : अनंतनाग में पुलिस पार्टी पर आतंकी हमला, एक पुलिसकर्मी जख्मी

उन्होंने आगे कहा, आदिवासी क्षेत्रों में चले रहे विभिन्न निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार की शिकायतें निरंतर सामने आ रही है. मैं सरकार से मांग करता हूं कि डैम में लीकेज को देखते हुए सरकार सुरक्षा के तत्काल आवश्यक सभी कदम उठाये ताकि किसी भी तरह के नुकसान व जनहानि को रोका जा सके. आसपास के गांवो में विशेष सतर्कता बरतने व उन्हें सुरक्षित स्थानो पर पहुंचाने की तैयारी भी की जाए. कमलनाथ ने कहा- इस नवनिर्मित डेम में भ्रष्टाचार व घटिया निर्माण की शिकायतों को देखते हुए विशेषज्ञों का एक जांच दल तत्काल गठित करने का निर्णय भी लिया जाए, जो इस निर्माण कार्य की जांच करे. साथ ही इसके दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

RO 12141/ 126

spot_img

RO 12111/ 129

spot_img

RO- 12078/ 122

spot_img

RO - 12059/126

spot_img

RO - 12027/130

spot_img

RO - 12006/126

spot_img
spot_img

More Articles