Mahasamund: जंगली जानवरों का नहीं थम रहा शिकार, हाथी और भालू के बाद अब गौर को मार डाला

Must Read

Mahasamund: महासमुंद जिले के पिथौरा वन क्षेत्र में जंगली जानवरों का शिकार थमने का नाम नहीं ले रहा है. शिकारी जंगली जानवरों को मारने के लिए करंट फैला रहे हैं, जिससे जंगली जानवर लगातार मर रहे हैं. हाल ही में एक गौर की करंट लगने से मौत हो गई है. इस घटना से वन विभाग में हड़कंप मच गया.Chhattisgarh : कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम में ढिलाई बर्दाश्त नहीं – कलेक्टर

Mahasamund:वन परिक्षेत्र

मिली जानकारी के अनुसार गिरना के जंगल में गौर का शिकार किया गया है. गौर की मौत बिजली की करंट हुई है. इसके पहले भी वन्यजीवों के लिए फैले बिजली के करंट की चपेट में आने से हुई है. जंगल में फैले करंट की चपेट में लोग भी आ चुके हैं.

मौके पर तार के कुछ टुकड़े मिले हैं. इससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि गौर की मौत करंट लगने से हुई है. जंगली जानवरों के लगातार शिकार से मौत हो रही है. इसे लेकर वन विभाग चिंतित नजर आ ऱहा है. शिकारी जंगली जानवरों का शिकार करने के लिए जंगल में बिजली की करंट का उपयोग करते हैं, जिससे लगातार जंगली जानवरों की मौतें हो रही है. वहीं वन परिक्षेत्र के अधिकारी मौके पर मौजूद हैं. मामले की जांच कर रहे हैं.

Mahasamund:पिथौरा वन परिक्षेत्र की घटना

एक साल पहले किशनपुर वन क्षेत्र में जंगली जानवरों के शिकार के लिए बिजली के करंट लगाया गया था. इसमें एक हाथी और एक भालू की मौत हो गई थी. वन विभाग की टीम ने कुल 7 लोगों को गिरफ्तार किया था. इसके अलावा कुछ दिनों पहले एक व्यक्ति भी जंगल में करंट लगने के कारण मौत हुई थी.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles