MP News : कपड़े पत्रकरों के उतरें, नग्न शिव की सरकार हो गई

Must Read

MP News :  मध्यप्रदेश के सीधी से आई पत्रकरों की यह तस्वीर चुभन देने वाली, बेहद व्यथित करने वाली है। लोकतंत्र के रक्षा की दुहाई देने वाले शिवराज सिंह चौहान के राज में ऐसा दृश्य देखने को मिलेगा सोचा भी नही था। ऐसा लग रहा है मानो संविधान की किताब रद्दी की टोकरी में फेंककर रक्षक पुलिस खुद गुंडई पर उतर आई हो।

पुराने दौर की पत्रकार बताते हैं इंदिरा गांधी के राज में लगा आपातकाल भयावह था। उस दौरान सरकार की नीतियों का विरोध करने वाले पत्रकारों के साथ ज्यादती हुई, उन्हें महीनों तक जेल में ठूस दिया गया था। उन बातों के साथ हम इस ताजा तस्वीर को देखें तो समझ आता है कि सत्ता का चरित्र लगभग एक सही होता है। किसी ने जेल में डाला तो किसी ने कपड़े उतार अपमानित करने का कुत्सित प्रयास किया।

MP News 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी, पत्रकारिता तो उनका कर्म है किंतु ये लोग समाज के एक सभ्य नागरिक भी है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के तहत इन्होंने अपनी बात रखी थी।अगर अपनी पत्रकारिता में अगर इन लोगों ने कुछ गलत किया तो अपराध दर्ज कीजिए, जांच कराईये,दोषी हो तो कार्रवाई कीजिए परंतु भारतीय संविधान ने आपकी पुलिस को स्वयं जज बनने का अधिकार नहीं दिया है।

आपको क्या लगता है इस घटना से क्या चंद पत्रकारों का ही अपमान हुआ है, नहीं साहब आपकी पुलिस ने पूरी पत्रकार बिरादरी का घोर अपमान किया है।उनके कपड़े उतार कर जो उन्हें नग्न किया गया है तो यह जान लीजिए अब उनके पास खोने के लिए कुछ बचा नहीं है। ऐसे में सब मिलकर आपके सरकार की खुदाई करें इससे पहले आप मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाईये और दोषी पुलिस अफसरों पर बर्खास्तगी की कार्रवाई करिए।
(देवेंद्र गुप्ता)

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

RO 12276/ 120

spot_img

RO 12242/ 175

spot_img

RO- 12172/ 127

spot_img

RO - 12027/130

spot_img

More Articles