Delhi में विदेशों की तर्ज पर जारी किए गए नए ट्रैफिक रूल

Must Read

Delhi दिल्ली में जारी हुए नए ट्रैफिक रूल्स विदेशों की तर्ज पर हैं. जिनके मुताबिक बस लेफ्ट लेन में ही चलेगी. हैवी व्हीकल बस लेन का हिस्सा होंगे. कॉमर्शियल वाहन भी बस लेन में ही चलेंगे. नो ओवरटेकिंग जॉन, नो स्टॉपिंग जॉन बनाया जाएगा. राइट लेने की स्थिति में बस को 10 सेकंड पहले का समय दिया जाएगा जिससे लेफ्ट में वाहनों से हादसा ना हो.CG News : गिरदालपारा परियोजना से कृषकों के जीवन में खुशहाली

बसों और भारी वाहन तय लेन पर चल रही है कि नहीं इसे लेकर सरकार ने आज दिल्ली में काफी सख्ती दिखाई है. आज पहले ही दिन लेन का उल्लंघन करने पर 20 चालान हुए हैं. दिल्ली के ट्रांसपोर्ट विभाग ने 15 कॉरिडोर पर शुक्रवार से इसे सख्ती से लागू कराना शुरू कर दिया हैं, कुछ कॉरिडोर पर चालान के डर से बसें लेन में ही चलती नजर आईं.

Delhiनो स्टॉपिंग जॉन यात्रियों को बसों के लिए लंबा इंतजार

इसका बुरा असर यह भी हुआ कि बसों की स्पीड कम हो गई और कई जगह यात्रियों को बसों के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा. इस नियम को तोड़ने पर 10 हजार रुपए तक का जुर्माना लगाए जाने का प्रावधान है. साथ ही लाइसेंस भी रद्द किया जा सकता है. सरकार ने इस संबंध में शुक्रवार को एडवाइजरी जारी की थी.

Delhiनए रूल्स

फिलहाल, ट्रैफिक के इस सिस्टम को 15 दिन के लिए लागू किया गया है. नए रूल्स के तहत बस ओवरटेक नहीं कर पाएगी यानी सामान्य गति से बस को चलना होगा. 2 पहिया वाहनों को भी ओवर टेक लाइन या मिडिल लाइन में ही रहने का नियम है. असल में करीब 70 फीसदी से ज्यादा सड़क दुर्घटना के पीछे कारण लेन चेंज होता है. हालांकि, दिल्ली में लेन सिस्टम पहले से है पर उसको फॉलो कोई नहीं करता है, लेकिन ट्रैफिक के नियम काफी सख्त भी हैं और उस पर जुर्माना भी है.

Delhiबनाए गए बॉक्स

वहीं, डीटीसी और क्लस्टर बसें स्टॉप पर बनाए गए बॉक्स के अंदर ही रुकेंगी. वहीं, नियमों का पालन किया जाए, इसके लिए परिवहन विभाग की इंफोर्समेंट टीम, डीटीसी, क्लस्टर और ट्रैफिक पुलिस की 50 टीमें लेन ड्राइविंग सुनिश्चित करने के लिए सड़कों पर रहेंगी.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles