रविवार, मई 22, 2022

होलिका दहन को लेकर शांति समिति की बैठक,कलेक्टर ने की अपील

Must Read

बालोद ब्युरो चीफ ढालेंद्र कुमार

बालोद। जिले में 17 मार्च को होलिका दहन खुले स्थानो पर ही किया जा सकेगा। बिजली के ट्रांसफार्मरों और तारों के नीचे होलिका दहन नहीं किया जा सकेगा। शांति समिति की बैठक में कलेक्टर ने किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस विभाग को लगातार पैट्रोलिंग की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

उन्होंने चिन्हांकित स्थानों पर अतिरिक्त पुलिस बल की व्यवस्था करने को कहा। त्यौहारों के दौरान किसी भी अप्रिय घटना की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम में देने की भी अपील की गई। होली पर अवैध चंदा वसूली करने वालो, शराब पीकर हुडदंग करने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

होलिका दहन वाली जगहों की जानकारी प्रशासन को देनी होगी – होलिका दहन कार्यक्रम आयोजित करने वाली सभी समितियों को होलिका दहन का समय और स्थल की पूरी जानकारी प्रशासन को देनी होगी। जानकारी प्राप्त होने पर संबंधित एसडीएम और कार्यपालिक दण्डाधिकारी पुलिस अधिकारियों के साथ ऐसे स्थानों का निरीक्षण भी करेंगे। होलिका दहन झुग्गी-झोपड़ियों या विद्युत तार के नीचे या ट्रांसफार्मर एवं अन्य विद्युत उपकरणों के नजदीक नहीं किया जाएगा। स्ट्रीट लाईटों और सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों के विरूद्ध भी शासकीय संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी।

होलिका – शराब दुकानें बंद रहेंगी, अवैध शराब बिक्री पर होगी कड़ी कार्रवाई –

होली पर्व पर जिले की सभी शासकीय शराब दुकानें और लाइसेंसी बार आदि बंद रहेंगे। कलेक्टर ने अवैध शराब की बिक्री को पूरी तरह प्रतिबंधित करने के निर्देश आबकारी विभाग के अधिकारियों को बैठक में दिए। अवैध शराब की बिक्री करने वालों के विरूद्ध छापामार कर सख्त कार्रवाई करने के लिए कलेक्टर ने आबकारी विभाग को दस्ते बनाने को कहा। उन्होंने होटलों तथा ढाबों जैसे स्थानों पर अवैध शराब की बिक्री पर भी रोक लगाने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

होली के दौरान किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने, आंखों में रंग-गुलाल जाने या रंगो के कारण किसी व्यक्ति की तबियत खराब होने पर तत्काल उपचार के लिए होली के दिन भी जिला चिकित्सालय के साथ-साथ सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में डॉक्टर मौजूद रहेंगे। जिले में ऐम्बुलेंस संचालनकर्ता एजेंसी, स्टॉफ नर्स आदि को भी त्यौहार के दौरान अप्रिय स्थितियों से निपटने के लिए तैयार रहेंगे।

अस्पतालों और स्वास्थ्य केन्द्रों में नेत्र चिकित्सकों और चर्म रोग विशेषज्ञ डॉक्टरों की ड्युटी उपलब्धतानुसार लगाने के निर्देश बैठक में दिए गए। ऐम्बुलेंसों और 112 वाहनों को भी अपने-अपने कार्यक्षेत्रों में ही मौजूद रहने के लिए निर्देशित किया गया ताकि आवश्यकता पड़ने पर लोगों को समय पर उपचार की सुविधा मुहैया कराई जा सके। होली त्यौहार के मद्देेनजर पिकनिक स्पॉट, नदी-नालों विशेषकर दर्री,डेम बॅराज पर होम गार्ड के गोताखोर नजर रखेंगे। इन स्थानों पर भी सुरक्षाबलों की व्यवस्था और पैट्रोलिंग होती रहेगी। होली के त्यौहार पर लोगों के स्वास्थ्य को हानि पहुंचाने वाले रंगो, कैमिकल स्प्रे, पेपर स्प्रे, हुटर साइरन और मुखौटों की बिक्री करने वालों पर भी प्रशासन की विशेष नजर रहेगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Related News