RAIPUR: छात्राओं की आंखों की समस्याओं एंव सावधानी पर व्याख्यान एवं महत्वपूर्ण सुझाव

Must Read

RAIPUR: शासकीय दू. ब. पी. जी महिला महाविद्यालय रायपुर के छात्रावास में दिनांक 03.04 2022 को डॉ. गुंजन सलुजा भाटिया, एम एस,आई स्पेशलिस्ट द्वारा छात्राओं को आंखों की समस्याओं एंव सावधानी पर व्याख्यान एवं महत्वपूर्ण सुझाव दिया गया. जिसमें 20-20 नियम अर्थात बीस मिनट पढने के बाद 20 सेकंड आंखों को आराम देना, पढने के दौरान पलक झपकाना, आवश्यकता पडने पर डाक्टर से परामर्श लेने की जानकारी दी.

RAIPUR:

छात्राओं ने भी आंखों से संबंधित प्रश्न पूछे. जैसे इंफेक्शन, आंख लाल होना, आंसू आना, खुजली होना दोनों आंखों से अलग अलग दिखाई देना,, मोतियाबिंद संबंधी जानकारी, तिरछापन, शुगर की समस्या का आंख पर प्रभाव, रेटिनोग्लास्टोमा, कांटेक्ट लैंस संबंधी प्रश्न, नेत्रदान पर चर्चा कार्निया ट्रान्सप्लांट संबंधी बातें बतायीं। छात्राओं के सारे सवालों का जवाब उन्होंने बडे़ ही सरल ढंग से दिया. लैंस के उपयोग संबंधी सावधानियां भी बतायीं। इस दौरान प्राचार्य डॉ. श्रद्धा गिरोलकर, वार्डन डॉ. प्रीति शर्मा, सहायक वार्डन डॉ. प्रकाश सलुजा, डॉ. सरिता दुबे एवं बड़ी संख्या में छात्रायें उपस्थित रहीं।

RAIPUR:

डॉ गुंजन सलूजा भाटिया, नेत्र रोग विशेषज्ञ द्वारा नेत्र सुरक्षा, एवम उनसे संबंधित रोगों के बारे में छात्रावास की छात्राओं को जानकारी देते हुए ,बताया कि ऑनलाइन कक्षाओं के दौरान आप सभी को मोबाइल और अन्य माध्यमों से पढ़ाई और असाइनमेंट्स और क्लासेस ज्वाइन करनी पड़ती है जिसके कारण नेत्रों मे बहुत अधिक जोर पड़ता है,बीच बीच में आंखों को आराम देने की जरूरत होती है।

RAIPUR:

लगातार इन माध्यमों को कई घंटों तक उपयोग करने के बाद रेस्ट देना जरूरी है।पानी के छींटे डायरेक्ट आंखों में न डालें यदि पानी शुद्ध नहीं है तो इन्फेक्शन होने के चांसेज होते हैं। आई लाइनर कभी आपस में एक्सचेंज न करे इससे भी इन्फेक्शन का खतरा होता रहता है।ड्राइनेस के कारणों और उसके उपाय भी बताए।छात्राओं के प्रश्नों के उत्तर दिए। उनको नेत्रदान के फायदे बताए हुए इसके लिए प्रेरित किया।परिवार में किसी सदस्य की मृत्यु के बाद नेत्रदान कर बहुत बड़ा पुण्य किया जा सकता ।नेत्रदान से बड़ा कोई दान नहीं है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

RO 12141/ 126

spot_img

RO 12111/ 129

spot_img

RO- 12172/ 127

spot_img

RO - 12027/130

spot_img

RO - 12006/126

spot_img

More Articles