RAIPUR: गौठान में संचालित गतिविधियों से आर्थिक रूप से सबल बन रही हैं महिलाएं

Must Read

RAIPUR: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने भेंट-मुलाकात अभियान के दौरान आज सरगुजा जिले के सीतापुर विधानसभा क्षेत्र ग्राम सरमना पहुंचे। यहां सरई पेड़ की छांव के नीचे मुख्यमंत्री ने भेंट-मुलाकात के दौरान ग्रामीणों से शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की जमीनी हकीकत जानी। वहीं शासकीय योजनाओं का जीवन पर प्रभाव को भी जानने का प्रयास मुख्यमंत्री श्री बघेल ने किया। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर इस क्षेत्र के लिए अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की। Udaipur: 3 दिन के चिंतन शिविर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की होंगी महती भूमिका

RAIPUR:


उन्होंने माड़ नदी पर भंडार डांड़ में एनीकट निर्माण, बतौली से करदना तक सड़क चौड़ीकरण, चिरगा मोड़ से एनएच43 तक सड़क निर्माण की घोषणा की। उन्होंने बतौली को राजस्व अनुभाग बनाने की मांग पर कहा कि इसके लिए परीक्षण कराया जाएगा, संभव न हो तो लिंक कोर्ट शुरू करेंगे। इस अवसर पर नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू भी उपस्थित थे।

RAIPUR:

भेंट-मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरमना में ग्रामीणों से पूछा- मुझे पहचानते हो कि नहीं….. जनता ने खुशी से चिल्ला कर जवाब में कहा जानते हैं। मुख्यमंत्री ने किसानों से ऋण माफी और आम जनता से 35 किलो चावल मिलने, राशन कार्ड बनने की जानकारी ली। सभी ने हां कहते हुए सकारात्मक जवाब दिया। गौरतलब है कि बीते 4 मई से मुख्यमंत्री श्री बघेल ने प्रदेश से सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा शुरू किया है। इस भेंट-मुलाकात अभियान में मुख्यमंत्री आमजनता से सीधे संपर्क साध रहे हैं और संवाद कर रहे हैं

RAIPUR:

मुख्यमंत्री यह जानने का प्रयास कर रहे हैं कि शासकीय योजनाएं जमीनी स्तर पर क्रियान्वयित हो भी रही हैं या नहीं। शासकीय योजनाओं का लाभ आमजन को कितना मिल पा रहा है और जनता अब भी किन समस्याओं से जूझ रही है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री का आज सरमना पहुंचना हुआ। मुख्यमंत्री ने गौठान की स्थिति पर जानकारी ली। वहीं महिलाओं से गौठान में संचालित गतिविधियों को जाना। यहां महिलाओं ने बताया कि वे गौठान में ही अनेक तरह की आर्थिक गतिविधियों का संचालन कर रही हैं और वे आर्थिक रूप से संबल बन रही हैं।

RAIPUR:

मुख्यमंत्री यह जानने का प्रयास कर रहे हैं कि शासकीय योजनाएं जमीनी स्तर पर क्रियान्वयित हो भी रही हैं या नहीं। शासकीय योजनाओं का लाभ आमजन को कितना मिल पा रहा है और जनता अब भी किन समस्याओं से जूझ रही है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री का आज सरमना पहुंचना हुआ। मुख्यमंत्री ने गौठान की स्थिति पर जानकारी ली। वहीं महिलाओं से गौठान में संचालित गतिविधियों को जाना। यहां महिलाओं ने बताया कि वे गौठान में ही अनेक तरह की आर्थिक गतिविधियों का संचालन कर रही हैं और वे आर्थिक रूप से संबल बन रही हैं।

RAIPUR:

आत्मविश्वास से लबरेज महिलाओं की बातें सुनकर मुख्यमंत्री श्री बघेल सहसा बोल उठे कि मेहनत का जब फल मिलता है तो आत्मविश्वास बढ़ता ही है। आशा महिला समूह की सदस्य सरिता बाकला ने मुख्यमंत्री को बताया कि आशा महिला समूह गौठान समिति बटेर, मुर्गीपालन बाड़ी के साथ फिनाइल बना रहे हैं। महिलाओं ने बताया कि मुर्गीपालन में सबसे ज्यादा फायदा है। एक दिन में 150 अंडा मिल जाता है, जिसे साढ़े 6 रुपये में बेचते हैं। इसे वे स्कूल में मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम में सप्लाई करते हैं। बटेर और मुर्गीपालन से उन्हें 1 लाख 65 हजार रूपए का फायदा हुआ है। अब उनका मछलीपालन और सुकर पालन करने की योजना है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

RO 12141/ 126

spot_img

RO 12111/ 129

spot_img

RO- 12078/ 122

spot_img

RO - 12059/126

spot_img

RO - 12027/130

spot_img

RO - 12006/126

spot_img
spot_img

More Articles