रविवार, मई 22, 2022

TI की थानेदारी या दलाली ? रेपिस्ट को बचाने की साजिश

Must Read

TI की थानेदारी या दलाली ?: छत्तीसगढ़ के मुंगेली पुलिस की कार्यप्रणाली पिछले कई महीनों से काफी सुर्खियों में है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यूपीएससी की मुख्य परीक्षा में छत्तीसगढ़ से चयनित सभी छात्रों को बधाई दीएक बार फिर मुंगेली सिटी कोतवाली के थानेदार के वायरल आडियो ने पुलिस विभाग में हड़कंप मचा दिया है.थानेदार ने वायरल AUDIO में रेप पीड़िता को मामले कीरफदफा करने के एवज में पैसे दिलाने का ऑफर दिया है,लेकिन रेप पीड़िता न्याय की मांग पर डटी रही.थानेदार पीड़िता को अलग-अलग मेडिकल टेस्ट कराने के नाम पर डराने की भी कोशिश कर रहा है.वहीं न्याय नहीं मिलने पर रेप पीड़िता ने आत्महत्या करने की चेतावनी दी है.

TI की थानेदारी या दलाली ?:पीड़िता और सीएएफ के जवान


दरअसल, पूरा मामला एक रेप पीड़िता और सीएएफ के जवान से जुड़ा है. जहां जांजगीर जिला के शिवरीनारायण में रहने वाला एकलव्य साहू छत्तीसगढ़ शस्त्र बल में सेकेंड सकरी बटालियन सुकमा में पदस्थ है.पीड़ित युवती का आरोप है कि कुछ माह पहले एकलव्य साहू से उसकी शादी की बात चल रही थी. सामाजिक रीति रिवाज से सगाई का कार्यक्रम भी हुआ, जिसके बाद दोनों के बीच नजदीकिया बढ़ने लगी और शादी से पहले ही एकलव्य साहू ने शादी करने का झांसा देकर शारीरिक शोषण किया. इसके बाद अचानक एकलव्य साहू ने लड़की से शादी करने से इंकार कर दिया.

TI की थानेदारी या दलाली ?:सामाजिक बैठक


सामाजिक बैठक में इस बात पर चर्चा भी की गई, लेकिन सीएएफ का जवान शादी करने के लिए राजी ही नहीं हुआ. इस बात से दुःखी पीड़ित युवती ने सीएएफ के जवान एकलव्य साहू के खिलाफ सिटी कोतवाली मुंगेली में दैहिक शोषण की लिखित शिकायत की.पीड़िता का आरोप है कि पुलिस इस गंभीर प्रकरण पर तत्काल एफआईआर दर्ज करने के बजाये उल्टे रेप पीड़िता को केस न कर पैसा लेकर समझौता कर लेने का दबाव बनाती रही.

TI की थानेदारी या दलाली ?:सिटी कोतवाली


पीड़िता का यह भी आरोप है कि सिटी कोतवाली के थानेदार संजीव ठाकुर से जब भी वह एफआईआर दर्ज करने की बात करती है, तो उसे उल्टे केस ना कर समझौता कर लेने का दबाव बनाया जाता. पीड़ित युवती ने थानेदार संजीव ठाकुर से बातचीत का आडियों भी मीडिया में जारी किया है, जिसमें संजीव ठाकुर रेप पीड़िता से ये कहते नजर आ रहे है कि केस करने से कुछ हासिल नहीं होगा, पैसा चाहिए तो तुम मेरे को बता दो. साहब इतना पैसा मेरे को दिलवा दीजिए, मैं वो रास्ता एक दम आसानी से तय कर दूंगा.

TI की थानेदारी या दलाली ?: एफआईआर दर्ज


पीड़िता ने जब एफआईआर दर्ज करने की बात पर अड़ी रही, तो थानेदार ये कहते नजर आ रहे हैं कि मैं उन लोगों को भी बोल देता हूं, वो अग्रिम जमानत की तैयारी कर ले. तुम मेरा बात नहीं माने इस चीज का मुझे बहुत दुःख है. तुम अपने परिवार को ले आओं एमएलसी होगा, मेडिकल टेस्ट होगा, फिर जाकर न्यायायल में चीख चीखकर बताना तुम.

TI की थानेदारी या दलाली ?:वहीं पीड़िता ने आरोप


वहीं पीड़िता ने आरोप लगाया है कि 1 फरवरी को एफआईआर दर्ज करने के बाद भी पुलिस आरोपी जवान को गिरफ्तार न कर उसे संरक्षण दे रही है. इस पूरे मामले में पुलिस पीड़िता को न्याय नहीं मिलने पर युवा कांग्रेस के विधानसभा अध्यक्ष अजय साहू ने मामले की शिकायत मुंगेली एसपी से की है. अजय साहू ने इस पूरे प्रकरण पर कोतवाली के थानेदार संजीव ठाकुर पर कार्रवाई करने के साथ ही बलात्कार के आरोपी सीएएफ के जवान की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Related News