रविवार, मई 22, 2022

भारत में कोरोना का कहर एक बार फिर बढ़ने लगा है, 2,527 नए केस मिले और 33 लोगों की मौत

Must Read

नई दिल्ली: भारत में कोरोना का कहर एक बार फिर बढ़ने लगा है. देश में पिछले 24 घंटों में 2,527 नए केस दर्ज हुए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शनिवार को जारी आंकडों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना से 33 लोगों की मौत हुई है. देश में अभी एक्टिव केस की संख्या 15,079 हो गयी है. इन 3 तरह के मरीजों के लिए WHO ने जारी की खास गाइडलाइंस विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना संक्रमितों के एक ग्रुप के लिए रेमेडिसविर दवा के लिए सशर्त सिफारिश की है.

अस्पताल में भर्ती होने वाले ज्यादा जोखिम वाले रोगियों के लिए निर्माट्रेलवीर और रटनवीर के संयोजन की सिफारिश की. WHO के इंटरनेशनल एक्सपर्ट्स ने बीएमजे में कहा कि फाइजर की एंटीवायरल दवा (निर्माट्रेलवीर और रटनवीर गोलियों का एक संयोजन) को गैर-गंभीर कोविड -19 वाले रोगियों के लिए अनुशंसित किया जाता है, जिन्हें अस्पताल में भर्ती होने का सबसे अधिक खतरा होता है, जैसे- बिना वैक्सीनेशन वाले, बुजुर्ग, इम्यूनोसप्रेस्ड (कमजोर इम्यूनिटी वाले) रोगी.

विशेषज्ञों का कहना है कि निर्माट्रेलवीर/रटनवीर इन रोगियों के लिए एक बेहतर विकल्प है क्योंकि यह अस्पताल में भर्ती होने से रोक सकता है. इससे एंटीवायरल दवा मोलनुपिरवीर की तुलना में कम नुकसान होता है और रेमेडिसविर और एंटीबॉडी इलाज जैसे विकल्पों की तुलना में प्रशासित करना आसान है. हालांकि, उन्होंने कम जोखिम वाले रोगियों में इसके उपयोग की सलाह नहीं दी क्योंकि इसके लाभ कम हैं. उन्होंने कहा कि गंभीर कोविड -19 के रोगियों के लिए कोई सिफारिश नहीं करते हैं, क्योंकि वर्तमान में इस समूह के लिए निर्माट्रेलवीर/रटनवीर पर कोई टेस्टिंग डेटा नहीं. उन्होंने यह सिफारिश 3,100 रोगियों से जुड़े टेस्टिंग के आंकड़ों पर आधार पर की है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Related News