The Kashmir Files: जम्मू-कश्मीर पुलिस ने 57 सेकंड का एक वीडियो पोस्ट किया है

Must Read

नई दिल्ली: कश्मीरी पंडितों के नरसंहार और पलायन पर आधारित फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ के संदर्भ में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने 57 सेकंड का एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसका उद्देश्य यह रेखांकित करना है कि कैसे अतीत में आस्था से परे सभी कश्मीरी उग्रवाद के शिकार हुए. इसका नाम ‘द अनटोल्ड कश्मीर फाइल्स’ रखा गया है. द इंडियन एक्सप्रेस ने जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी के हवाले से लिखा है, “यह शॉर्ट वीडियो नागरिकों तक पहुंचने का एक प्रयास है कि हम उनके दर्द को समझते हैं और आतंकवाद के खिलाफ इस लड़ाई में हम सभी एक साथ हैं.”

इस वीडियो को 31 मार्च को जम्मू-कश्मीर पुलिस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया गया था. संयोग से 4 अप्रैल को घाटी में प्रवासियों और कश्मीरी पंडितों पर हमलों में एक नई तेजी देखी गई. पुलिस अधिकारी ने द इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘द कश्मीर फाइल्स’ कश्मीरी पंडितों की दुर्दशा पर केंद्रित है, लेकिन यहां कई लोगों को लगता है कि फिल्म घाटी में आतंकवाद के कारण कश्मीरी मुसलमानों की पीड़ा को पूरी तरह से नजरअंदाज करती है.

जम्मू-कश्मीर पुलिस की यह वीडियो क्लिप बीते 27 मार्च को घाटी में एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) और उसके जुड़वा भाई की आतंकवादियों द्वारा हत्या का जिक्र करते हुए, शोक में डूबी महिलाओं के एक शॉट के साथ शुरू होती है. दो पीड़ितों की तस्वीरों के साथ इस वीडियो स्टोरी में बताया जाता है कि कैसे, “आतंकवादियों ने एसपीओ इशफाक अहमद के घर में घुसकर उसे और उसके भाई उमर जान के साथ मार डाला.”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles