Chhattisgarh: प्रदेश में 28 जुलाई को मनाया जायेगा ‘गेड़ी डे’ ,स्कूलों में होगी गेड़ी प्रतियोगिता

0
447

रायपुर: हमारा छत्तीसगढ़ विविध संस्कृति,कलाओं, लोक नृत्य आर और त्योहारों को अपने में संजो कर रखा है। इन्हे बढ़ावा देने और इनका सम्मान करने के लिए 28 जुलाई को सभी स्कूलों में गेड़ी डे मनाया जाएगा। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी भी इसमें शामिल होंगे।

सीएम भूपेश बघेल द्वारा छत्तीसगढ़ के विकास और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए अलग-अलग कदम उठाएं जाते हैं। जिससे कि छत्तीसगढ़ के सांस्कृतिक विविधताओं, गौरवशाली परंपराओं को सहज कर रखा जा सके और लोगों में इसके प्रति प्रेम और गर्व की भावना का विकास हो सके। छत्तीसगढ़ की विशेष त्योहारों में से एक है हरेली त्यौहार जिसे हर साल मनाया जाता है।

इस साल यह त्यौहार 28 जुलाई को मनाया जाएगा। जिसके लिए सभी स्कूलों में गेड़ी डे मनाया जाएगा जहां बच्चों में गेड़ी प्रतियोगिता रखी जाएगी। और स्पर्धा को जीतने वाले छात्र या छात्रा को पुरस्कृत किया जाएगा इस प्रतियोगिता में सीएम भूपेश बघेल जी भी अपना योगदान देंगे।

छत्तीसगढ़ की कला और संस्कृति को प्रोत्साहित करने व बच्चों को इससे जोड़ने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा यह प्रोग्राम आयोजित किया जाएगा आपको बता दें 28 जुलाई को सभी स्कूलों में गेड़ी डे मनाया जाएगा, इससे पहले मजदूर दिवस के दिन भी भूपेश बघेल जी ने “बोरे बासी दिवस” मनाया था। जिसमें छत्तीसगढ़ के लोगों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। यह बोरे बासी दिवस सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा ट्रेंड किया था लोगों ने बोरे बासी खाते हुए सोशल मीडिया पर अपने फोटो अपलोड किए थे। सीएम बघेल, मंत्री और अफसरों ने खुद मजदूरों के साथ बोरे बासी खाया था। हरेली त्यौहार का छत्तीसगढ़ में बहुत महत्व है तथा इस त्यौहार के दिन गेड़ी चढ़ने की परंपरा है।जहां बड़े बच्चों के लिए गेड़ी बनाते हैं और बच्चे गेड़ी चढ़ते हैं।

हरेली से गेड़ी चढ़ने की शुरुआत होती है जो भादो में तीजा-पोला तक मनाया जाता है।छत्तीसगढ़ की परंपराओं, संस्कृति और लोककला को बढ़ावा देने सीएम भूपेश बघेल लगातार पहल कर रहे हैं।कैबिनेट की बैठक में इस पर चर्चा के बाद अफसर कार्यक्रम की तैयारियों में जुट गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here