AAP: भाजपा 40 विधायकों को निशाना बना रही है, 20-20 करोड़ रुपये की पेशकश की…

Must Read

नयी दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि उसके दिल्ली के 40 विधायकों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने निशाना बनाया है और उन्हें पाला बदलने के लिए 20-20 करोड़ रुपये की पेशकश की गई है जबकि सभी 62 विधायक पार्टी के साथ हैं।

‘आप’ के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मुख्यमंत्री और पार्टी प्रमुख अरंिवद केजरीवाल के घर पर बुलाई गई बैठक में 53 विधायकों ने शिरकत की जिनमें केजरीवाल भी शामिल हैं। वहीं सात विधायक दिल्ली से बाहर हैं जबकि मंत्री सत्येंद्र जैन जेल में हैं।

उन्होंने कहा कि ओखला से विधायक अमानतुल्ला खान फोन के जरिए बैठक में शामिल हुए। बैठक के बाद भाजपा के ‘आॅपरेशन लोटस’ की विफलता की प्रार्थना के लिए केजरीवाल के नेतृत्व में ‘आप’ विधायक महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पहुंचे।

बैठक से पहले सूत्रों ने दावा किया था कि 12 विधायकों से कुछ दिनों से संपर्क नहीं हो पा रहा था। उन्होंने उम्मीद जताई थी कि वे विधायक केजरीवाल के आवास पर बुलाई गई बैठक में हिस्सा लेंगे। भारद्वाज ने कहा कि केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को इस बात की जांच करनी चाहिए कि ‘आप’ के विधायकों को तोड़ने के लिए भाजपा के पास 800 करोड़ रुपये कहां से आए? भारद्वाज ने आरोप लगाया, ‘‘भाजपा ने पाला बदलने के लिए 12 विधायकों से संपर्क किया है। विधायकों ने कहा है कि वे ‘आप’ के साथ हैं।

भाजपा 40 विधायकों को निशाना बना रही है और पाला बदलने के लिए 20-20 करोड़ रुपये की पेशकश की गई है।’’ भाजपा विधायकों ने ‘आप’ के विधायकों को तोड़ने के आरोपों को खारिज किया और इसे केजरीवाल नीत पार्टी का लोगों की सहानुभूति हासिल करने का हथकंडा करार दिया।

भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि ‘आप’ लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है । उन्होंने दिल्ली की आबकारी नीति पर केजरीवाल की ‘चुप्पी’ पर सवाल उठाया। आप’ के चार विधायकों ने बुधवार को दावा किया था कि भाजपा नेताओं ने उनसे संपर्क कर पाला बदलने की पेशकश की है और उन्हें बताया गया था कि भाजपा केजरीवाल नीत पार्टी के 20-25 विधायकों से संपर्क बनाए हुए है।

इसके अलावा शुक्रवार को दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र आयोजित होगा। यह सत्र दिल्ली सरकार के मंत्रियों के खिलाफ केंद्रीय अन्वेषण एजेंसी (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच और छापेमारी तथा भाजपा की ओर से उसके विधायकों को कथित रूप से ‘तोड़ने’ की कोशिशों को लेकर बुलाया गया है।

इस बीच भाजपा ने ‘आप’ को उन लोगों के नाम उजागर करने की चुनौती दी है, जिन्होंने पार्टी बदलने की पेशकश के साथ उसके विधायकों से कथित रूप से संपर्क किया है। उसने आरोप लगाया कि केजरीवाल नीत पार्टी दिल्ली सरकार के शराब ‘घोटाले’ से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

Ro 12338/134

spot_img

RO 12242/ 175

spot_img

More Articles