BIG NEWS: तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में भारी बारिश के बाद आठ लोगों की मौत…

Must Read

चेन्नई: बंगाल की खाड़ी से पैदा हुए चक्रवात मिचौंग (मिगजॉम) के गंभीर चक्रवाती तूफान बनने के बाद आज इसके आंध्र प्रदेश के तट से टकराने का अनुमान है। मौसम विभाग के मुताबिक, मिचौंग आज दोपहर के बाद कभी भी आंध्र प्रदेश के बापटला से टकरा सकता है। इस चक्रवात का असर पहले ही दक्षिण और उत्तर भारत के कई राज्यों में दिखाई दिया है। खासकर तमिलनाडु और पुडुचेरी चक्रवात की वजह से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। यहां भारी बारिश के बाद अलग-अलग कारणों से आठ लोगों की मौत हुई है, वहीं काफी संपत्ति का भी नुकसान हुआ है।

इस दौरान 90 से 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में कई स्थानों पर भारी वर्षा हो रही है। चेन्नई हवाई अड्डे के रनवे पर पानी भर गया है। चेन्नई हवाईअड्डे पर आने और जाने वाली लगभग 70 उड़ानें रद कर दी गईं। 33 उड़ानें चेन्नई से बेंगलुरु डायवर्ट की गई हैं। टीटीडी के अध्यक्ष, तिरूपति के विधायक भुमना करुणाकर रेड्डी और नगर आयुक्त हरिता ने बारिश से प्रभावित जलभराव क्षेत्रों पुलावनी गुंटा और गोलावनी गुंटा क्षेत्र का जायजा लिया।

मिचौंग चक्रवाती तूफान की वजह से चेन्नई में आई भारी बारिश और बाढ़ ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। आईफोन की वेंडन कंपनी फॉक्सकॉन से लेकर पेगाट्रॉन तक के ऑपरेशन प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा ऑटोमोबाइल कंपनी ह्यूंदै में भी कामकाज प्रभावित हुआ है। इस बीच चेन्नई एयरपोर्ट पर फ्लाइटों की आवाजाही शुरू हो गई है। चक्रवात मिचौंग इस वक्त आंध्र प्रदेश के बापटला से टकराने के लिए तेजी से बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने बताया है कि आज दोपहर यह चक्रवात आंध्र से टकरा सकता है।

फिलहाल यह चक्रवात 90-100 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार की हवाओं के साथ आगे बढ़ रहा है। आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में इसका असर दिखना शुरू भी हो गया है। बताया गया है कि तट से टकराने के बाद हवाओं की रफ्तार 110 किमी प्रतिघंटे तक जा सकती हैं। चेन्नई के वेस्ट तंबरम सीटीओ कॉलोनी और सशिवराधन नगर इलाके में लोग आवाजाही के लिए नाव का इस्तेमाल कर रहे हैं।

चक्रवात मिचौंग के कारण बारिश के बाद शहर में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है। तमिलनाडु के चेन्नई में चक्रवात मिचौंग के असर से भीषण बारिश के बाद मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रभावित लोगों को खाना भी बांटा। ओडिशा में चक्रवाती तूफान मिचौंग के असर को देखते हुए गजपति जिले के कलेक्टर ने भारी वर्षा के मद्देनजर सभी प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, हाई स्कूल और आंगनवाड़ी केंद्रों को 6 दिसंबर 2023 को बंद रखने का निर्देश जारी किया है।

मिचौंग चक्रवात के प्रभाव से चेन्नई में बारिश के कारण कई जगहों पर जलभराव हुआ। वहीं, आंध्र प्रदेश बापटला में मध्यम बारिश हो रही और तेज़ हवाएं चल रही हैं। उत्तरी तटीय तमिलनाडु और पुडुचेरी में मंगलवार सुबह ज्यादातर इलाकों पर हल्की से मध्यम बारिश और कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने के बाद वर्षा में कमी आने की संभावना है। मौसम विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी है।

चक्रवात ‘मिगजॉम’ के कारण चेन्नई और आसपास के जिलों में सोमवार को बाढ़ ने तबाही मचा दी जिससे जनजीवन बाधित हो गया। इसके बाद बारिश की तीव्रता में कमी का पूर्वानुमान एक राहत का समाचार है। चेन्नई के कुछ हिस्सों के निवासियों ने मंगलवार तड़के से बारिश नहीं होने की सूचना दी और बताया कि उनके क्षेत्रों में बिजली सेवाएं बहाल कर दी गई हैं, लेकिन शहर में रेल सेवा निलंबित है।

बंगाल की खाड़ी से पैदा हुए चक्रवात मिचौंग (मिगजौम) के गंभीर चक्रवाती तूफान बनने के बाद आज इसके आंध्र प्रदेश के तट से टकराने का अनुमान है। मौसम विभाग के मुताबिक, मिचौंग आज दोपहर के बाद कभी भी आंध्र प्रदेश के बापटला से टकरा सकता है। इस चक्रवात का असर पहले ही दक्षिण और उत्तर भारत के कई राज्यों में दिखाई दिया है। खासकर तमिलनाडु और पुडुचेरी चक्रवात की वजह से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। यहां भारी बारिश के बाद अलग-अलग कारणों से पांच लोगों की मौत हुई है, वहीं काफी संपत्ति का भी नुकसान हुआ है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles