BIG NEWS: विवाह भवन में आग लगने से 100 से अधिक लोगों की मौत, 150 घायल…

Must Read

मोसुल: उत्तरी इराक में ईसाई विवाह समारोह के दौरान की गई अतिशबाजी के कारण मेहमानों से खचाखच भरे भवन में भीषण आग लग गई, जिसमें कम से कम 100 लोगों की मौत हो गई और 150 लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने मरने वालों की संख्या और बढ़ने की आशंका जताई है। उन्होंने बताया कि घटना इराक के निनवे प्रांत के हमदानिया इलाके की है। यह प्रांत उत्तरी शहर मोसुल के ठीक बाहरी क्षेत्र में बसा एक ईसाई बहुल इलाका है, जो कि देश की राजधानी बगदाद से 335 किलोमीटर दूर उत्तर पश्चिम में है।

आग लगने के कारण पर फिलहाल कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है, लेकिन एक टेलीविजन समाचार चैनल पर प्रसारित हो रहे एक फुटेज में समारोह स्थल पर आतिशबाजी की आवाजें सुनाई दे रही हैं और एक झूमर में आग लगती दिख रही है।

फुटेज में घटना के बाद बिखरा मलबा, टेलीविजन के कैमरे और घटना के बाद वहां से गुजर रहे लोगों के मोबाइल फोन की रोशनी दिखाई दे रही है। घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया और उन्हें आॅक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है। घायलों के लिए और आॅक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की जा रही है। आग की चपेट में आने वालों में कुछ बच्चे भी शामिल हैं।

स्थानीय समाचार चैनल के अन्य फुटेज में दिखाया गया कि मंगलवार की रात जब आग लगी तो डांस फ्लोर पर मौजूद दूल्हा-दुल्हन स्तब्ध रह गए। हालांकि, यह अभी स्पष्ट नहीं हुआ है कि वे दोनों हताहत हुए लोगों में शामिल हैं या नहीं।

एक घायल महिला ने समाचार चैनल को अस्पताल में बताया, “वहां डांस के लिए जाने वाले थे और ऐसी चीज जलाई गई जिससे वहां आग लग गई।” एक अन्य घायल व्यक्ति ने बताया कि आग तब लगी जब जोड़े डांस के लिए तैयार हो रहे थे।

उन्होंने कहा, “उन्होंने आतिशबाजी की और वह छत तक पहुंची तथा आग लग गई। कुछ ही सेकंड में आग पूरे भवन में फैल गई।” निनवे प्रांत के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि मरने वालों की संख्या 114 हो गई है। हालांकि, संघीय अधिकारियों ने मृतकों की संख्या (100) में कोई बदलाव नहीं किया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता सैफ अल-बद्र ने इससे पहले इराक की सरकारी समाचार एजेंसी के हवाले से घायलों की संख्या 150 बताई थी। अल-बद्र ने कहा, ‘‘इस दुखद घटना के पीड़ित लोगों को राहत प्रदान करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।’’

प्रांत के एक स्वास्थ्य अधिकारी अहमद डुबरदानी ने समाचार चैनल को बताया कि घायलों में कई की हालत गंभीर है। डुबरदानी ने कहा, ‘‘इनमें से ज्यादातर लोग बुरी तरह जल गए हैं और कुछ 50 से 60 फीसदी तक जल चुके हैं।’’

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से आॅनलाइन जारी किए गए बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोहम्मद शिया अल-सुदानी ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। निनवे के प्रांतीय गर्वनर नजीम अल-जुबौरी ने बताया कि कई घायलों को क्षेत्रीय अस्पतालों में रेफर किया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि हताहतों का यह अंतिम आंकड़ा नहीं है और मरने वालों की संख्या और बढ़ने की आशंका है।

हमदानिया इराक के निनवे मैदान क्षेत्र पर बसा है और इस पर केंद्र सरकार का नियंत्रण है। हालांकि, इराक की अर्धस्वायत्त कुर्द क्षेत्रीय सरकार इस पर अपना दावा करती है।

कुर्द क्षेत्र के प्रधानमंत्री मसरूर बरजानी ने अस्पतालों को हताहत हुए लोगों की मदद करने का आदेश दिया है। विवाद समारोह में मौजूद रहे पादरी फादर रूडी सफर खौरी ने कहा कि अभी यह स्पष्ट यह नहीं है कि आग के लिए कौन दोषी है। उन्होंने कहा ‘‘हो सकता है कि आयोजकों की किसी भूल से आग लगी हो या इसकी वजह कोई तकनीकी खामी हो। यह स्पष्ट नहीं है कि आग के लिए किसे दोषी ठहराया जाए। लेकिन जो हुआ, वह भयावह है।’’

इराकी समाचार एजेंसी के हवाले से नागरिक सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि विवाह समारोह स्थल के बाहरी हिस्से की सजावट में अत्यधिक ज्वलनशील सामग्री का इस्तेमाल हुआ था, जो देश में गैरकानूनी है।
नागरिक सुरक्षा अधिकारी ने कहा, ‘‘अत्यधिक ज्वलनशील सामग्री के इस्तेमाल और कम लागत वाली निर्माण सामग्री के उपयोग के कारण आग लगी जिसने कुछ ही देर में विकराल रूप ले लिया। भवन का कुछ हिस्सा आग लगने से ढह गया।’’

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles