बसपा सुप्रीमो मायावती का बड़ा दावा : अगर…..तो BJP सत्ता में नहीं कर पाएगी वापसी

Must Read

लखनऊ : बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इलेक्‍ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) को लेकर संदेह जाहिर किया है. उन्होंने रविवार को एक जनसभा के दौरान दावा किया, ‘अगर स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव हुए तो इस बार भारतीय जनता पार्टी (BJP) केंद्र की सत्ता में आसानी से वापस नहीं आने वाली.’

बसपा प्रमुख ने रविवार को अमरोहा में पार्टी उम्मीदवार मुजाहिद हुसैन और गाजियाबाद में नंदकिशोर पुंडीर के समर्थन में अलग-अलग जनसभाओं को संबोधित किया. मायावती ने अमरोहा में भाजपा पर मुसलमानों के उत्पीड़न और गाजियाबाद में पश्चिमी उप्र में क्षत्रियों को टिकट न देकर उनकी उपेक्षा का आरोप लगाया.

इसे भी पढ़ें :-Raipur : युवक की संदिग्ध हालत में मिली लाश, गले में बंधा था रस्सी, पुलिस ने जताई हत्‍या की आशंका

मायावती ने कांग्रेस, भाजपा और इनके अन्य सभी सहयोगी दलों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, ‘आजादी के बाद केंद्र और राज्यों में सत्ता ज्यादातर कांग्रेस के हाथों में रहीं, लेकिन अधिकांश मामलों में गलत नीतियों के कारण उसे केंद्र और राज्यों की सत्ता से बाहर होना पड़ा.’

भाजपा पर कांग्रेस की राह पर चलने का आरोप लगाते हुए बसपा प्रमुख ने कहा, ‘पिछले कई वर्षों से भाजपा और उनके सहयोगी दल केंद्र और राज्यों की सत्ता में काबिज हैं लेकिन इनकी जातिवादी, पूंजीवादी, संकीर्ण, सांप्रदायिक, द्वेष पूर्ण नीतियों, कार्यप्रणाली और इनकी कथनी और करनी में अंतर होने के कारण लगता है कि इस बार भाजपा केंद्र की सत्ता में आसानी से वापस नहीं आने वाली.’

इसे भी पढ़ें :-दिल्ली NCR की तर्ज पर विकसित किया जाएगा रायपुर SCR : बृजमोहन अग्रवाल 

उन्होंने कहा, ‘बशर्तें अगर चुनाव इस बार स्वतंत्र और निष्पक्ष हुए और ईवीएम में गड़बड़ी नहीं की गई.’ मायावती ने कहा, ‘वैसे भी इस बार चुनाव में इनकी (भाजपा) पुरानी और नयी नाटकबाजी, जुमलेबाजी, गारंटी आदि काम नहीं आने वाले क्योंकि अब देश की जनता इन्हें समझ चुकी है.’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘इनकी (भाजपा) पार्टी ने देश के गरीब, कमजोर तबकों व अन्‍य मेहनतकश लोग जिनसे उन्होंने अच्छे दिन दिखाने के वादे किये, उसका एक चौथाई कार्य नहीं किया.’ पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘इनका (भाजपा) ज्यादातर समय और ताकत बड़े पूंजीपतियों, धन्नासेठों को धनवान बनाने और उन्‍हें छूट देने तथा बचाने में लगा.’

इसे भी पढ़ें :-दिल्ली NCR की तर्ज पर विकसित किया जाएगा रायपुर SCR : बृजमोहन अग्रवाल 

गाजियाबाद में बसपा उम्मीदवार नंदकिशोर पुंडीर के समर्थन में आयोजित जनसभा में मायावती ने भाजपा पर पश्चिमी उप्र में क्षत्रिय समाज की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि पश्चिमी उप्र में उच्‍च जाति के लोग काफी तादाद में रहते हैं लेकिन दुख की बात यह है कि भाजपा व अन्य पार्टियां, जो अपने को क्षत्रिय समाज की हिमायती समझती हैं, उन्होंने इस चुनाव में क्षत्रिय समाज की उपेक्षा की है.

मायावती ने कहा कि बसपा ने पश्चिमी उप्र में अन्‍य समाज के साथ ही क्षत्रिय समाज को पूरा पूरा आदर सम्मान दिया है और टिकट बंटवारे में उनको उचित भागीदारी दी है. गाजियाबाद के मौजूदा सांसद व केंद्रीय मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह को टिकट न देकर भाजपा ने उप्र सरकार के पूर्व मंत्री अतुल गर्ग को टिकट दिया है. सिंह, क्षत्रिय समाज से आते हैं. गाजियाबाद और अमरोहा में 26 अप्रैल को मतदान होगा.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles