संस्कार और शिक्षा से धर्मान्तरण लव जिहाद से मिलेगी मुक्ति अपराध पर लगेगा लगाम – तामेश तिवारी

Must Read

दुर्ग : हनुमानजी जी के जन्मोत्सव के अवसर पर हिन्दू शक्ति सेवा संगठन ने धूमधाम से मनाया स्थापना दिवस ,व केंद्रीय जेल दुर्ग में कैदियों के लिए और शहर वाशियो को हजारो की संख्या में धार्मिक ग्रंथों का दान किया गया।

ज्ञात हो कि हनुमान जन्मोत्सव के दिन ही संगठन का स्थापना हुआ था और उसी दीन से प्रत्येक वर्ष इसी दिन संगठन का भी स्थापना दिवस मनाया जाता है ।

कार्यक्रम में सर्वप्रथम हनुमानजी जी के विधिवत पूजा अर्चना के पश्चात झंडा वंदन किया गया तत्पश्चात भजन कीर्तन महाआरती व भोग भंडारा का कार्यक्रम आयोजित किया गया।

इसे भी पढ़ें :-उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय अग्रवाल की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में प्रेस ब्रीफिंग – 23 अप्रैल 2024

ततपश्चात केंद्रीय जेल दुर्ग में व शहरों में आम लोगों को हजारो की संख्या में वृहद रुप मे धर्मिक ग्रंथो का दान किया जिसमें श्री राम चरित मानस, शिव पुराण, श्रीमद्भागवत गीता,गोसेवा, हनुमान चालीसा आदि ग्रंथो का दान किया गया ।

संगठन के संथापक तामेश तिवारी ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी हनुमानजी जन्मोत्सव व संगठन के स्थापना दिवस को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया व केन्द्रीय जेल दुर्ग में जेलर साब से मिलकर जेल में केदियो के लिए धार्मिक ग्रथो का वितरण किया गया व साथ ही शहर के आम जनता को भी भारी संख्या में धार्मिक ग्रंथों का दान किया गया।

तिवारी ने बताया कि धर्मान्तरण लव जिहाद व अपराधो पर लगाम लगाने संगठन के द्वारा पिछले कई वर्षों से हर हर गीता घर घर गीता अभियान चला रखा है जिसके तहत लगभग 35 हजार धर्म ग्रंथो को निशुल्क वितरण किया जा चुका है इन्ही उद्देश्यों को लेकर की हिन्दू जागृत हो धर्मान्तरण रुके लभ जिहाद पर अंकुश लगे, अपराध कम हो। क्यों कि इन सब लगाम सिर्फ हमारा धर्म लगा सकता है जो अपने धर्म को जानता है वो कभी धर्म से विमुख नही हो सकता।

युवा पीढयों में संस्कार डालने उन्हें उनका धर्म बताने के उद्देश्य से आम लोगो में धार्मिक ग्रंथ दिया वितरण किया जाता है।

तिवारी ने बताया कि धर्म ग्रंथ के वितरण के लिये से संगठन के अलग अलग टीम बना दिया गया था जो दुर्ग शहर के विभिन्न स्थानों पर धार्मिक ग्रंथों का वितरण किया।।

कार्यक्रम को सुचारू रूप से संचालित करने में गोवर्धन जायसवाल, राजेंद्र तिवारी जी,डॉ गणेश पांडेय, रमेश सिंग, गेंदलाल जोशी, मनोज चौरसिया, केशरी देवांगन, डाली साहू, रश्मि सिंग, अनिता वर्मा, सेल शुक्ला, प्रमोद सिंग, राहुल पांडेय आदि का प्रमुख रूप से योगदान रहा।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles