Covid-19 : राज्य में बुजुर्गों के लिए मास्क हुआ जरूरी, सरकार ने इस वजह से लिया फैसला

Must Read

कर्नाटक : कर्नाटक सरकार ने सोमवार को 60 साल से अधिक उम्र के ऐसे लोगों के लिए मास्क पहनना जरूरी कर दिया है जो खांसी, सर्दी और बुखार के साथ ही अन्य बीमारियों से पीड़ित हैं. उसने पड़ोसी राज्य केरल में कोविड-19 के सब वेरिएंट का एक मामला सामने आने के बाद यह कदम उठाया है. स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडु राव ने बताया कि अधिकारियों को ऐसे लक्षण वाले लोगों और संदिग्ध मामलों की जांच के साथ-साथ पड़ोसी जिलों में निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं.

इसे भी पढ़ें :-“डोनेट फॉर देश” के नाम पर जनता का जेब काटेगी कांग्रेस -बृजमोहन

उन्होंने बताया कि स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है और लोगों की आवाजाही तथा उनके एकत्रित होने पर अभी किसी तरह की पाबंदी की आवश्यकता नहीं है. उन्होंने बताया कि सरकार एक एडवाइजरी लेकर आएगी. राव ने कहा, ‘अभी चिंता की कोई बात नहीं है. हमने शनिवार को एक बैठक की थी और डॉ. के रवि की अगुवाई वाली हमारी तकनीकी सलाहाकार समिति ने कल मुलाकात की थी और उठाए जाने वाले कदमों के संबंध में हमारी अधिकारियों तथा विशेषज्ञों के साथ चर्चा हुई है.’

उन्होंने कहा, ’60 साल से अधिक उम्र और हृदय एवं गुर्दे संबंधी बीमारियों तथा खांसी, सर्दी और बुखार से पीड़ित लोगों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है. हम जनता को यह सूचना दे रहे हैं. साथ ही हमने अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों से तैयार रहने को कहा है. कोडागु, दक्षिण कन्नड़, चामराजनगर जैसे सीमावर्ती जिलों में अधिक निगरानी होनी चाहिए जिनकी सीमा केरल से लगती है.’

इसे भी पढ़ें :-CM साय ने डॉ. रमन सिंह को सर्वसम्मति से विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर सदन में बधाई

राव ने कहा, ‘कुछ दिनों में हमें पता चल जाएगा कि संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं या नहीं. कोविड जांच बढ़ाने के साथ अगर संक्रमण के और मामले आते हैं तो हम आगे के कदमों पर निर्णय लेंगे. अभी कोई पाबंदी लागू करने की जरूरत नहीं है. यह पूछने पर कि क्या केरल से लौट रहे अयप्पा श्रद्धालुओं पर कोई पाबंदी होगी, इस पर राव ने कहा कि अभी लोगों की आवाजाही तथा एकत्रित होने पर कोई पाबंदी नहीं है.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles