समय सीमा की बैठक : निर्माणाधीन भवनों को शीघ्र पूर्ण करने दिये निर्देश

Must Read

नारायणपुर, 06 फरवरी 2024 : साप्ताहिक समय सीमा की बैठक में कलेक्टर बिपिन मांझी ने जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेकर राज्य सरकार के योजनाओं को जिले के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के निर्देश दिये। उन्होंने समय सीमा के लंबित प्रकरणों एवं पत्रों की गहन समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि समय सीमा मे प्रकरणों का निराकरण करना सुनिश्चित करें ताकि राज्य शासन की जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को समय पर मिल सके।

उन्होंने राज्य सरकार के महतारी वंदन योजना का फार्म आंगनबाड़ी केन्द्रों एवं पंचायतों में शिविर लगाकर शतप्रतिशत पात्र हितग्राहियों का आनलाईन अथवा आफलाईन के माध्यम से 20 फरवरी तक अनिवार्य रूप से फार्म भरवाने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने पुलिस विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि सोनू राम कोवाची ग्राम कोंगे निवासी का मावोवादी घटना होने पर उनके आवेदन पर शीघ्र निराकरण करने निर्देश दिये।

इसे भी पढ़ें :-बलौदाबाजार : आंगनबाड़ी सहायिका भर्ती के लिए दावा आपत्ति 14 फरवरी तक

इसी प्रकार वन भूमि का जांच कर आवेदक छोटेडोंगर निवासी रामदई कोर्राम के प्रकरण को निराकरण करने, हाईस्कूल कोहकामेटा मे भवन निर्माण तथा अतिरिक्त कक्ष निर्माण की समीक्षा की गई। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि निरीक्षण के दौरान जिले मे निर्माणाधीन उप स्वास्थ्य, आंगनबाड़ी केन्द्र, स्कूलों में भवन निर्माण, अतिरिक्त कक्ष, पीडीएस गोदाम निर्माण आदि भवनों का अवलोकन करने निर्देश दिये।

कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग की जानकारी लेते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि जिले के किसी भी व्यक्ति का बिमार होने पर उचित उपचार हेतु जिला अस्पताल में सुविधाएं उपलब्ध कराएं। इसी प्रकार शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि स्कूलों में पढ़ने वाले छात्राओं की सूची बनाए, जिससे राज्य सरकार की योजनाओं से लाभांवित किया जा सके। खाद्य विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले के अंतिम छोर के व्यक्ति तक राशन उचित मूल्य के दुकान के माध्यम से पहंुचायें।

इसे भी पढ़ें :-खेलों को बढ़ावा देने मद्कूद्वीप में बनाया जाएगा खेल परिसर : डिप्टी CM अरुण साव

कलेक्टर मांझी ने राजस्व, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य, शिक्षा, आदिवासी विकास विभाग, कृषि, महिला एवं बाल विकास, क्रेडा, विद्युत, पशुधन, वन सहित अन्य संबंधित विभागों के कार्यों का समीक्षा करते हुए सभी कार्यों को समय सीमा में पूर्ण कराने के निर्देश दिये। आदिवासी विभाग के सहायक आयुक्त को निर्देशित करते हुए कहा कि जिले के आश्रम छात्रावासों में पर्याप्त जगह होने पर किचन गार्डन विकसीत करें।

राजस्व विभाग के द्वारा सीमांकन, बटवारें और किसान किताब पत्र की मांग किये जाने पर परीक्षण कर वितरण कराना सुनिश्चित करें। उन्होने जिले में संचालित सभी आश्रम छात्रावासों और विद्यालयों के निर्माण कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। समय सीमा की बैठक में हैण्डपंप की मरम्मत, जाति प्रमाण पत्र, लोक सेवा केन्द्र की सेवाओं का सतत संचालित करने उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया गया।

इसे भी पढ़ें :-Sachin Pilot: अगर थोड़ा और प्रयास करते तो कांग्रेस राजस्थान विधानसभा चुनाव जीत सकती थी

जिले के आंगनबाड़ियों में कार्यकर्ताओं की भर्ती स्थानीय स्तर पर करने निर्देश दिये। कलेक्टर ने जिला स्तरीय सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आश्रम छात्रावास और स्कूलों का नियमित रूप निरीक्षण करने के दौरान निर्माणाधीन आंगनबाड़ी केन्द्र, उप स्वास्थ्य केन्द्र तथा विद्यालय भवनों का अनिवार्य रूप से अवलोकन करें।

बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आकांक्षा शिक्षा खलखो, अपर कलेक्टर जितेंद्र कुर्रे, एसडीएम नारायणपुर प्रदीप कुमार बैध, एसडीएम ओरछा अभयजीत मंडावी, डिप्टी कलेक्टर सुमित बघेल, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास ब्रदीश सुखदेवे, सीएमएचओ डॉ. टीआर कुंवर, उप संचालक कृशि बीएस बघेल सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles