Durg : नागरिकों के मन में सम्मान और अपराधियों के मन में भय

Must Read

दुर्ग 20 अगस्त 2022 : नागरिकों के मन में सम्मान और अपराधियों के मन में वर्दी के प्रति भय यह पुलिस का ध्येय वाक्य है और इस पर निरंतर कार्य करना विभाग का लक्ष्य है। आप लोग इस दिशा में निरंतर जुटे हुए हैं। अपराध की प्रकृति की पहचान कर इसके लिए विशेष रणनीति बनाएं और कारगर रणनीति के अनुरूप इन पर नियंत्रण करें।

मंत्री ताम्रध्वज साहू ने गृह विभाग की समीक्षा बैठक में यह बात रखी। गृह मंत्री ने कहा कि क्राइम को लेकर जो हॉटस्पॉट जोन है वहां विशेष रूप से पेट्रोलिंग होती रहे। मुखबिर तंत्र अच्छा रहे। सूचनाओं का बेहतर आदान-प्रदान होता रहे। लोगों की शिकायत पर तुरंत कार्रवाई हो और इसका जल्द निपटारा हो, यह सुनिश्चित करें।

यह भी ‌‍‌‍‍पढ़ें :-​​​​​​CM बघेल ने वरिष्ठ आईएएस अधिकारी डॉ. एम. गीता के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया

मंत्री ने कहा कि शिकायत को संज्ञान में लेना और इस पर प्रभावी कार्यवाही दोनों ही प्रमुख उद्देश्य है। इसके अलावा नगरीय क्षेत्र होने के नाते ट्रैफिक की व्यवस्था भी बेहद अहम है। ट्रैफिक पुलिस ट्रैफिक जागरूकता को लेकर निरंतर अभियान चलाएं। ब्लैक स्पॉट्स पर विशेष नजर रखें। चौक-चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं। चौक-चौराहों को अधिक व्यवस्थित करने की जरूरत है ताकि ट्रैफिक स्मूथ किया जा सके, इस पर शीघ्र कार्रवाई कर रिपोर्ट दें।

बैठक में पीडब्ल्यूडी और नगर निगम के अधिकारी भी मौजूद थे। बैठक में निर्णय लिया गया कि दुर्ग शहर में ट्रांसपोर्ट नगर की आवश्यकता है और इस संबंध में प्रस्ताव मुख्यमंत्री को प्रेषित किया जाएगा। मंत्री ने कहा कि नशे की रोकथाम की निरंतर मॉनिटरिंग बेहद जरूरी है। इसके लिए निरंतर सूचना मिलने पर कार्रवाई की जाती रहे। मेडिकल स्टोर्स पर विशेष रूप से नजर रखी जाए।

यह भी ‌‍‌‍‍पढ़ें :-रविवार 21 अगस्त 2022, से शनिवार 27 अगस्त 2022, तक का साप्ताहिक राशिफल:-

गृह मंत्री ने कहा कि इंटरनेट रिवॉल्यूशन के दौर में साइबर क्राइम भी पनप रहा है। इसके लिए स्टाफ को टेक्निकली मजबूत करते रहें। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास में लाइसेंसी बंदूक है, उसकी समीक्षा की जाए। कई लोगों के लाइसेंस काफी पुराने हो चुके हैं और अब उन्हें इसकी जरूरत नहीं रह गई है। ऐसे सभी मामलों की समीक्षा कर आवश्यक ना होने पर लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई की जाए।

गृह मंत्री ने कहा कि एनएच और महत्वपूर्ण मार्गों में पेट्रोलिंग नियमित होती रहे। अतः इसकी निरंतर मॉनिटरिंग की जाती रहे। जहां पर अव्यवस्थित गाड़ियां खड़ी है उन्हें हटाया जाए। ट्रैफिक व्यवस्था दुरुस्त करने से और ट्रैफिक सेंस के संबंध में जागरूकता बढ़ाने से सड़क सुरक्षा को मजबूत किया जा सकता है।

आईजी बद्रीनारायण मीणा ने बैठक में कहा कि सड़क सुरक्षा को लेकर बीते दिनों बैठक हुई थी और इसमें महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए थे और उन पर अमल किया जा रहा है।

एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया कि नागरिकों की शिकायत पर त्वरित कार्रवाई की जा रही है और सभी शिकायतों का त्वरित निराकरण किया जा रहा है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles