केजरीवाल पर खालिस्तानी संगठन से फंड लेने का आरोप, उपराज्यपाल ने की NIA जांच की सिफारिश

Must Read

नई दिल्ली : दिल्ली शराब नीति मामले में जेल में बंद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. अब उनपर एनआईए का शिकंजा भी कसने वाला है. दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने ‘सिख फॉर जस्टिस’ से कथित तौर पर धन लेने के लिए अरविंद केजरीवाल के खिलाफ एनआईए जांच की सिफारिश की है.

इसे भी पढ़ें :-Nagpur-Mumbai Samriddhi Expressway पर भीषण सड़क हादसा, दो की दर्दनाक मौत

केंद्रीय गृह सचिव को लिखे पत्र में उपराज्यपाल सचिवालय ने कहा कि सक्सेना को शिकायत मिली थी कि केजरीवाल के नेतृत्व वाली आप को कथित तौर पर देवेन्द्र पाल भुल्लर की रिहाई के लिए चरमपंथी खालिस्तानी समूहों से 1.6 करोड़ डॉलर की वित्तीय मदद मिली थी.

जानिए पत्र में उपराज्यपाल ने क्या कहा?

वीके सक्सेना ने कहा, ‘शिकायतकर्ता द्वारा दिए गए इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्यों के फॉरेंसिक परीक्षण सहित जांच की आवश्यकता है.’ पत्र में कहा गया है कि शिकायत एक मुख्यमंत्री के खिलाफ की गई है और एक प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन से प्राप्त राजनीतिक धन से संबंधित है.

यह कदम उच्चतम न्यायालय द्वारा मौजूदा लोकसभा चुनाव के मद्देनजर केजरीवाल को अंतरिम जमानत देने पर विचार करने से एक दिन पहले आया है. अरविंद केजरीवाल दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन मामले में तिहाड़ जेल में बंद हैं.

इसे भी पढ़ें :-BIG NEWS: पति – पत्नी का झगड़ा, छह वर्षीय बच्चे को मगरमच्छ से भरी नदी में छोड़ा…

उन्हें बीती 21 मार्च को ईडी ने गिरफ्तार किया था. केजरीवाल ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की रिमांड के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की हुई है. जिसपर कल फैसला आ सकता है.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles