मन की बात 106वें एपिसोड : मुंबई हमले के शहीदों को PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि

Must Read

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने आज मन की बात कार्यक्रम का 107वां एपिसोड संबोधित किया. प्रधानमंत्री का मासिक रेडियो कार्यक्रम आकाशवाणी और दूरदर्शन के पूरे नेटवर्क, आकाशवाणी समाचार वेबसाइट, newsonair मोबाइल ऐप और नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐप पर सुबह 11 बजे प्रसारित हुआ. इसे आकाशवाणी समाचार, डीडी न्यूज, पीएमओ और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के यूट्यूब चैनलों पर भी लाइव-स्ट्रीम किया गया.

इसे भी पढ़ें :-चीन में फैली रहस्यमयी बीमारी को लेकर भारत में टेंशन…! केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्य सरकारों को जारी किए निर्देश

मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने सबसे पहले मुंबई हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी. उन्होनें कहा कि 26 नवंबर की तारीख हम भूल नहीं सकते. इस दिन मुंबई पर जघन्य आतंकी हमला हुआ जिसने पूरे देश को थर्रा कर रख दिया. उन्होनें कहा भारत का सामर्थ्य है कि हम इस हमले से उबरे और अब अपने इसी हौसले के साथ आतंकवाद को कुचल रहे हैं. पूरा देश उन सभी पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दे रहा है, देश आज उन्हे याद कर रहा है.

इसके बाद पीएम मोदी (PM Modi) ने संविधान दिवस की बधाई दी. उन्होनें कहा कि एक और वजह से भी आज की दिन महत्वपूर्ण है. 1949 में आज ही के दिन संविधान को आंगिकार किया गया. साल 2015 में हमारे मन में विचार आया कि संविधान दिवस मनाया जाए. तब हमने प्रयास किया और तभी से हर साल संविदान दिवस के रूप में 26 नवंबर मनाया जा रहा है. सभी देशवासियों को संविधान दिवस की शुभकामनाएं.

इसे भी पढ़ें :-Uttarkashi Tunnel Rescue Operation : सेना ने संभाला मोर्चा… वर्टिकल ड्रिलिंग हुई शुरू

प्रधानमंत्री (PM Modi) ने देव दीपावली का भी जिक्र किया. उन्होनें कहा कल (27 नवंबर) को कार्तिक पूर्णिमा है. इसी दिन देव दीपावली भी है. पीएम मोदी ने कहा कि मेरा तो मन रहता है कि काशी की देव दीपावली में शामिल रहूं, लेकिन इस बार तो काशी नहीं जा पा रहा हूं. लेकिन मन की बात से बनारस के लोगों को शुभकामनाएं जरूर दूंगा. इस बार भी बनारस में लाखों दीये जलाए जाएंगे. यहां के घाटों पर आरती होगी, लेजर शो होगा और देश-विदेश से आए लाखों लोग यहां आनंद लेंगे.

उन्होनें विदेश में जाकर शादी करने पर सवाल उठाए. प्रधानमंत्री (PM Modi) ने कहा कि इन दिनों कुछ परिवारों ने विदेशों में जाकर शादी करने शुरू किया है. इससे एक नया वातावरण बनता जा रहा है. क्या ये जरूरी है? भारत की मिट्टी में, भारत के लोगों के बीच, अगर हम शादी ब्याह मनाएं, तो देश का पैसा, देश में रहेगा. उन्होंने कहा कि देश के लोगों को आपकी शादी में कुछ-न-कुछ सेवा करने का अवसर मिलेगा, छोटे-छोटे गरीब लोग भी अपने बच्चों को आपकी शादी की बातें बताएंगे.

मन की बात को संबोधित करते हुए पीएम (PM Modi) ने कहा कि अब तो घर के बच्चे भी दुकान पर कुछ खरीदते समय ये देखने लगे हैं कि उसमें मेड इन इंडिया लिखा है या नहीं लिखा है. इतना ही नहीं, ऑनलाइन सामान खरीदते समय अब लोग कंट्री ऑफ ऑरिजन भी देखना नहीं भूलते हैं. जैसे ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की सफलता ही उसकी प्रेरणा बन रही है, वैसे ही वोकल फॉर लोकल की सफलता, विकसित भारत-समृद्ध भारत के दरवाजे खोल रही है.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles