अब P20 में भारत की ऐतिहासिक सफलता : ओम बिरला के नेतृत्व में सर्वसम्मति से पारित हुआ घोषणा पत्र

Must Read

नई दिल्ली : G20 संसदीय अध्यक्ष शिखर सम्मेलन (P20) में भारत को एक बार फिर से बड़ी सफलता मिली है। अब पी20 सम्मेलन में स्पीकर ओम बिरला के नेतृत्व में सर्वसम्मति से घोषणा पत्र पारित हुआ। इससे पहले जी20 में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सर्वसम्मति से घोषणा पत्र पारित हुआ था। इसके साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी की सफलता को P20 में स्पीकर ओम बिरला ने आगे बढ़ाया। बात पिछले वर्ष की करें तो यह इंडोनेशिया में पारित नहीं हो सका था। लेकिन इस वर्ष सभी देशों ने सर्वसम्मति से घोषणा पत्र पारित किया।

इसे भी पढ़ें :-Amit Shah बंगाल में राम मंदिर की तर्ज पर बने दुर्गा माता पंडाल का उद्घाटन करेंगे

G20 तथा अन्य आमंत्रित देशों की संसदों के अध्यक्षों ने पी20 आयोजन को ऐतिहासिक बताया। सभी देशों के स्पीकर ने कहा कि बिरला ने P20 आयोजन के स्तर को बहुत ऊंचा उठाया हैं। आने वाले वर्षों में अन्य देशों के लिए स्पीकर बिरला द्वारा स्थापित प्रतिमानों को छूना कठिन हो सकता है। P20 के ऐतिहासिक आयोजन पर स्पीकर बिरला की सराहना हो रही है। ओम बिड़ला ने चैंबर ऑफ डेप्युटीज, ब्राजील के अध्यक्ष आर्थर सेसर परेरा डी लीरा और उनकी टीम को सम्मानित किया। भारत के बाद ब्राजील G20 का अध्यक्ष बना है। ओम बिड़ला ने कहा कि कई देशों के प्रतिनिधियों ने पश्चिम एशिया और मध्य पूर्व की स्थिति का भी उल्लेख किया है।

इसे भी पढ़ें :-Israel-Hamas war: फिलिस्तीनियों का उत्तरी गाजा से पलायन

ओम बिरला ने कहा कि कुछ सदस्यों ने अंतरराष्ट्रीय व्यापार को बढ़ावा देने और सप्लाई चेन में लचीलापन लाने के आवश्यक्ता का भी उल्लेख किया है। मैंने इन उल्लेखों को ध्यान से सुना है। आज के इंटर कनेक्टेड विश्व में हम किसी मुद्दे को आइसोलेशन में नहीं देख सकते। बिरला ने कहा कि कुछ सदस्यों ने शनिवार को यहां संपन्न दो दिवसीय विचार-विमर्श के दौरान महत्वपूर्ण वैश्विक चुनौतियों और हालिया भू-राजनीतिक घटनाक्रम का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि कई सदस्यों ने विचार-विमर्श के लिए सूचीबद्ध विकास के एजेंडे से हट कर वैश्विक चुनौतियों और आर्थिक मुद्दों से संबंधित मामले उठाए।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles