Raipur: दूधाधारी बजरंग महिला महाविद्यालय में इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस “विमेंस हेल्थ न्यूट्रिशन एजुकेशन एंड सेफ्टी” विषय पर संपन्न हुआ…

Must Read

आज दिनांक 24 जनवरी 2024 को शासकीय दूधाधारी बजरंग महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय रायपुर में गृह विज्ञान विभाग एवं महिला एवं बाल विकास विभाग ,छत्तीसगढ़ के सहयोग से इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस “विमेंस हेल्थ न्यूट्रिशन एजुकेशन एंड सेफ्टी” विषय पर संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता छत्तीसगढ शासन के सचिव श्री आर प्रसन्ना ने की।

उद्घाटन उद्बोधन में महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ किरण गजपाल ने महाविद्यालय की संक्षिप्त जानकारी सचिव महोदय को देते हुए कहा कि महाविद्यालय का प्राथमिक उद्देश्य एकेडमिक कैलेंडर का पालन करना है। हाल ही में महाविद्यालय को एक करोड रुपए की अनुदान राशि प्राप्त हुई है जो पूरे छत्तीसगढ़ में केवल इस महाविद्यालय को प्राप्त है।

उन्होंने बताया कि शोध और पेटेंट के क्षेत्र में भी महाविद्यालय को कई नई उपलब्धियां प्राप्त हुई हैं। आईक्यूएसी प्रभारी डॉ उषाकिरण अग्रवाल ने कार्यक्रम का सफल संचालन करते हुए महिलाओं के स्वास्थ्य और सुरक्षा पर अपने विचार रखे।

डॉ अभया जोगलेकर ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के उद्देश्य के संदर्भ में कहा यह अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन महिलाओं के स्वास्थ्य पोषण शिक्षा और सुरक्षा की जागरूकता के लिए आयोजित किया जा रहा है।

सचिव उच्च शिक्षा,ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इस महाविद्यालय ने बहुत सारी उपलब्धियां प्राप्त की है। रिसर्च एवं अन्य कार्य के लिए काफी बेहतर किया जा सकता है। उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य की भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका रही है एवं दोनों पर ध्यान देना बहुत महत्वपूर्ण है।

कार्यक्रम की संयोजक और गृह विज्ञान की विभागाध्यक्ष डॉ रश्मि मिंज ने धन्यवाद ज्ञापन दिया । महिला महाविद्यालय में छात्राओं की जागरूकता हेतु ऐसे आयोजनों की प्रासंगिकता पर उन्होने प्रकाश डाला।

कार्यक्रम की प्रमुख वक्ता श्रीमती मनप्रीत गरचा ने ऑस्ट्रेलिया से कार्यक्रम में भागीदारी की। उन्होंने आयुर्वेद के विषय में बताया कि आयुर्वेद वास्तव में शरीर के सभी अवयवों को प्रकृति के साथ संतुलित करने का विज्ञान है।

इसके साथ ही उन्होंने मानसिक स्वास्थ्य के लिए योग एवं ज्ञान के महत्व पर भी जोर डाला। इसके उपरांत कार्यक्रम की अन्य वक्ता डॉ आशा जैन ने न्यूट्रिशन एवं हेल्थ के विषय में अपना वक्तव्य दिया अपने वक्तव्य में उन्होंने कहा कि यदि जीवन में आहार विहार अचार को संतुलित रखा जाए तो जीवन अत्यंत सरल हो सकता है।

कार्यक्रम की स्त्रोत वक्ता डॉ प्रिया राव जो कि कानून विषय की विशेषज्ञ है ,उन्होंने कहा कि यदि महिलाओं की सुरक्षा हेतु पहल करना है तो सबसे पहले कानून की जानकारी होना आवश्यक है।

विभिन्न प्रकार के अनुच्छेद एवं कानून महिलाओं के पक्ष में तो हैं लेकिन उनका क्रियान्वयन सही तरीके से नहीं हो पाता है।
कार्यक्रम में छात्राओं के लिए विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गई जिसमे रंगोली प्रतियोगिता, स्लोगन प्रतियोगिता,प्रश्नोत्तरी आदि मुख्य रूप से रहे एवम प्रतियोगियों को पुरस्कार वितरण किया गया।

डॉ नंदा गुरवारा,डॉ वासु वर्मा, डॉ अभया जोगलेकर, डॉ अलका वर्मा, डॉ रेखा दीवान ,श्रीमती ज्योति मिश्रा ,डॉ स्वाति सोनी, श्रीमती दीप्ति चंद्राकर ,कुमारी श्रेया राठी तथा बड़ी संख्या में गृह विज्ञान तथा अन्य संकाय की छात्राएं सम्मिलित हुए ।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles