नवगठित जिला सक्ती अस्तित्व आने के साथ ही यहां प्रशासनिक कार्य शुरू

Must Read

सक्ती 14 सितम्बर 2022 : कलेक्टर नुपूर राशि पन्ना ने आज जिले के अधिकारियों की पहली बैठक ली। समय सीमा की बैठक के साथ उन्होंने अधिकारियों का न सिर्फ परिचय जाना, अपितु शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा नव गठित जिला सक्ती अस्तित्व में आ चुका है है।

प्रशासनिक कार्य शुरू होने के साथ लंबित प्रकरणों के निराकरण करने के निर्देश दिए हैं। शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए कलेक्टर ने सभी विभागों को आपसी समन्वय से बेहतर कार्य करने कहा है।

कलेक्टर नुपूर राशि पन्ना ने जिले में धान खरीदी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, राजीव गांधी भूमिहीन न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, नरवा विकास योजना, राजीव युवा मितान योजना, मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना, आत्मानंद स्कूल, मुख्यमंत्री सुपोषण योजना, मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना, मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना, नजूल पट्टों का नवीनीकरण आवंटन,राजस्व प्रकरणों का निराकरण,

Coronavirus : भारत में कोरोना के 3,267 नए केस, 19 लोगों की मौत

स्वसहायता समूहों का सुदृढ़ीकरण, अमृत सरोवर योजना, जाति प्रमाण पत्र, निर्माण कार्यों की स्थिति, जल जीवन मिशन, खाद्य, बीज की उपलब्धता, सिंचाई सुविधा का विकास, वाटर हार्वेस्टिंग, चिकित्सालयों का सुदृढ़ीकरण, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, जन शिकायत निवारण, लोक शिक्षण मद के कार्य, कौशल विकास, लोक सेवा गारंटी अधिनियम, फसल बीमा की समीक्षा की।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि शासन की सभी महत्वपूर्ण योजनाओं का एसडीएम स्तर पर अनिवार्य रूप से निरीक्षण होना चाहिए। मैदानी कर्मचारियों की कार्यस्थल पर उपस्थिति और आमनागरिकों के समस्याओं का निराकरण सुनिश्चित की जानी चाहिए। सभी अधिकारियों की उपस्थिति कार्यालय में निर्धारित समय पर हो, यह भी सुनिश्चित करने के कलेक्टर ने निर्देश दिए।

बैठक में आईईएस अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) रैना जमील, संयुक्त कलेक्टर पंकज डाहिरे, डिप्टी कलेक्टर रजनी भगत सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles