Ayodhya: रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां तेज, छह स्थलों पर भोजनालय…

0
119

अयोध्या: 22 जनवरी को आयोजित होने वाले रामलला के विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा उत्सव में शामिल होने वाले अतिथियों के लिए विशेष प्रबंध हो रहे हैं। इस अवसर पर देश के सभी प्रांतों के व्यंजनों के भंडारे चलेंगे। बाग बिजेसी के तीर्थ क्षेत्र पुरम में 20 हजार अतिथियों के लिए आवासीय व्यवस्था की जा रही है। यहां छह स्थलों पर भोजनालय चलेगा, जिसमें तीन संचालकों का चयन हो चुका है। इसी परिसर में दिल्ली, महाराष्ट्र, नागपुर व पंजाब के विशेषज्ञ भंडारा संचालित करेंगे।

भोजनालय व्यवस्था के प्रमुख विहिप के केंद्रीय मंत्री राजेंद्र सिंह पंकज ने बाग बिजेसी में संपूर्ण व्यवस्था देखने वाले क्षेत्रीय संगठन मंत्री गजेंद्र सिंह को इसकी जानकारी दी। यहां के लिए अन्य भंडारा संचालकों के बारे में जानकारी जल्द देंगे। इसके अतिरिक्त मणिराम दास जी की छावनी व कारसेवकपुरम में भी भंडारा चलेगा।संचालक संबंधित प्रांतों के भोजन बनाने वाले विशेषज्ञ व सामग्री भी लाएंगे।

हिंदी भाषी प्रदेश के अलावा तमिलनाडु, केरल, उड़ीसा, तेलंगाना सहित दक्षिण भारत के भंडारा संचालकों का नाम चयनित हो चुका है। 35 स्टालों पर भंडारा चलाने की योजना है। हालांकि अधिकांश संचालक रामजन्मभूमि पथ के निकट भंडारे के लिए स्थल के इच्छुक हैं। इस उत्सव में पंजाब, राजस्थान, महाराष्ट्र के खानपान से जुड़े एक से अधिक भंडारे चलाए जाएंगे। इसमें देश-विदेश के अतिथि व श्रद्धालु हिस्सा लेंगे। इसमें उत्तर भारत के अलावा दक्षिण भारत के लोकप्रिय व्यंजन परोसे जाएंगे।

यहां के कुछ जगह पर पूड़ी, साग व हलुआ, तो कहीं पर दिल्ली का राजमा-चावल व पंजाबी भक्तों के लिए छोला-भटूरा, हलुवा, पराठा तक सुलभ कराया जाएगा। महाराष्ट्र की पावभाजी, राजस्थान की दाल बाटी व चूरमा का स्वाद भी भक्त ले सकेंगे। तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश व केरल की खास इडली, डोसा व सांभर भी मिलेगा। राजेंद्र सिंह पंकज ने बताया कि पंजाब, राजस्थान व महाराष्ट्र के एक से अधिक भंडारे चलेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here