बिग ब्रेकिंग : चतरा में पुलिस-नक्सली मुठभेड़, CRPF जवान घायल

Must Read

रांची : झारखंड में लातेहार जिले में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ के बाद चतरा जिले में पुलिस और माओवादियों के बीच मुठभेड़ जारी है. माओवादियों (एमसीसी) के साथ पुलिस की मुठभेड़ हो रही है. इसमें सीआरपीएफ जवान चितरंजन को गोली लगी है. गंभीर अवस्था में इन्हें स्वास्थ्य उपकेंद्र ले जाया गया, जहां से बेहतर इलाज के लिए घायल जवान को हेलीकॉप्टर से रांची भेजने की कवायद की जा रही है. सूचना पाकर चतरा एसपी प्रतापपुर पहुंचे.

चतरा में नक्सल विरोधी अभियान पर निकली सीआरपीएफ 190 बटालियन और पुलिस की प्रतिबंधित नक्सली संगठन एमसीसी से मुठभेड़ हो गयी. रिजनल कमिटी सदस्य अरविंद भुईयां व सब जोनल कमांडर मनोहर गंझू दस्ते के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हो रही है. प्रतापपुर-कुंदा थाना क्षेत्र के सिकिद बलही जंगल में पुलिस-नक्सलियों के बीच मुठभेड़ जारी है. मुठभेड़ में सीआरपीएफ जवान चितरंजन को गोली लगी है.

यह भी पढ़ें :- असम में 17 बांग्लादेशी नागरिक गिरफ्तार, पर्यटक वीजा पर आए थे…लेकिन

गंभीर अवस्था में इन्हें स्वास्थ्य उपकेंद्र ले जाया गया, जहां से बेहतर इलाज के लिए रांची भेजने की कवायद की जा रही है. नक्सलियों की गतिविधि की सूचना पर पुलिस सर्च अभियान पर निकली थी. सीआरपीएफ 190 बटालियन व प्रतापपुर थाना की संयुक्त टीम सर्च अभियान चला रही थी. थाना प्रभारी विनोद कुमार भी इसमें शामिल है. सूचना पाकर चतरा एसपी प्रतापपुर पहुंचे.

इससे पहले, लातेहार जिले के सदर थाना क्षेत्र की पेशरार पंचायत के केदली टोला जंगल में रविवार को पुलिस और उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के बीच मुठभेड़ हुई. इस मुठभेंड में दोनों तरफ से कई राउंड गोलियां चलायी गयीं. इसके बाद पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाया. इस दौरान राइफल समेत कई सामान बरामद किए गए. पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन ने मुठभेड़ की पुष्टि करते हुए बताया कि पेशरार पंचायत के केदली टोला में जेजेएमपी उग्रवादियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई है.

यह भी पढ़ें :- Chandigarh University case : चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी का बयान-केवल एक लड़की ने अपना वीडियो शूट करके प्रेमी को भेजा’

पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन ने बताया कि केदली जंगल में जेजेएमपी के उग्रवादियों के जमावड़ा की सूचना मिली थी. इसी सूचना पर सीआरपीएफ 11वीं बटालियन के द्वितीय कमान अधिकारी विनोद कनौजिया के नेतृत्व में जिला पुलिस बल के द्वारा संयुक्त रूप से छापामारी अभियान चलाया गया. जंगल में पुलिस को देखते ही उग्रवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए उग्रवादियों पर फायरिंग की.

इस दौरान पुलिस को भारी पड़ता देख उग्रवादी जंगल में भाग खड़े हुए. बताया जा रहा है कि मुठभेड़ में जेजेएमपी के सुप्रीमो पप्पू लोहरा, लवलेश गंझू समेत कई उग्रवादी शामिल थे. केंदली व पेचेगड़ा जंगल में पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी है. मुठभेड़ के बाद सर्च ऑपरेशन में 315 बोर की एक राइफल, चार सौ गोलियां, दो मोबाइल, चार पावर बैंक, 315 बोर की एक राइफल मैगजीन, एक एसएलआर की मैगजीन, कई पिठ्ठू, वर्दी व दवा समेत कई जरूरी सामान को बरामद किया गया है.

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles