लोकसभा चुनाव 2024 : प्रयागराज में राहुल और अखिलेश की सभा में मची भगदड़,कई घायल

Must Read

प्रयागराज : प्रयागराज में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की जनसभा में हंगामा हुआ है। जनसभा में भगदड़ मच गई है। कार्यकर्ता बैरिकेडिंग तोड़कर अंदर घुस गए हैं। कई लोगों के घायल होने की जानकारी मिल रही है।

जानकारी के अनुसार, पड़िला महादेव फाफामऊ में आयोजित इंडिया गठबंधन की रैली में सपा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और सभा मुखिया अखिलेश यादव को देखने के लिए भीड़ काबू हो गई।

इसे भी पढ़ें :-एग्जाम टिप्स : यूजीसी नेट परीक्षा जून 2024 काउंटडाउन : रणनीति के साथ करें रिवीजन – मानस कुमार

कार्यकर्ता बैरिकेडिंग तोड़कर अंदर घुस गए। कार्यकर्ता मंच पर चढ़ गए। इसके बाद राहुल गांधी और अखिलेश नाराज हो गए। कार्यकर्ताओं की इस हरकत से नाराज होकर दोनों नेता बिना कुछ बोले ही चले गए। दोनों नेता मंच से चले गए। दोनों नेता हेलीकॉप्टर में बैठकर यहां से रवाना हो गए।

प्रयागराज के फाफामऊ क्षेत्र में पड़िला में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी अमरनाथ मौर्य की जनसभा में रविवार की दोपहर भगदड़ मच गई। वहां मौजूद सैकड़ों की संख्या में सपा कार्यकर्ताओं ने मंच के सामने डी की बैैरिकेटिंग तोड़ दी। वहां कई लोग घायल भी हुए। इस दौरान तमाम कार्यकर्ता मंच पर भी पहुंच गए। वहां मंच पर मौजूद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी असहज हो गए। वह चुपचाप मंच पर लगी कुर्सी में बैठ गए। इस दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी भी वहां पहुंचे। मंच के सामने भीड़ जमा होने से दोनों नेता तकरीबन 15 मिनट तक बैठे रहे। फिर आपस में बातचीत कर दोनों वहां से चलते बने।

इसे भी पढ़ें :-चुनाव प्रचार के अंतिम दिन बृजमोहन अग्रवाल ने भाजपा के लिए मांगे वोट

पड़िला महादेव मंदिर के पास एक आम के बाग में सपा प्रत्याशी अमरनाथ मौर्य के समर्थन में सभा आयोजित थी। सभा स्थल पर सुबह से ही भीड़ आनी शुरू हो गई। दोपहर 1.20 बजे सबसे पहले अखिलेश यादव का हेलीकॉप्टर वहां पहुंचा। इस दौरान तमाम कार्यकर्ता पुलिस का घेरा तोड़ हैलीपैड तक पहुंचना चाह रहे थे, लेकिन बाद में पुलिस ने वहां से सभी को खदेड़ दिया। वहीं अखिलेश जब तक मंच पर पहुंचते तब तक वहां मौजूद सैकड़ों सपा समर्थकों ने मंच के पास डी पर लगी बैरिकेटिंग तोड़ दी।

अचानक सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मंच तक पहुंच गए। इस दौरान अखिलेश के साथ आए सुरक्षा कर्मियों ने मोर्चा संभाल लिया। कुछ लोग जो मंच पर चढ़ गए थे, उन्हें वहां से किसी तरह उतारा गया। कार्यकर्ता डी घेरे से हटने को तैयार ही नहीं हुए। वहां सपा के साथ कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के नेताओं ने कई बार हाथ जोड़कर वहां मौजूद भीड़ को पीछे हटने के लिए कहा, लेकिन कोई टस से मस नहीं हुआ। इस बीच वहां राहुल गांधी की इंट्री हुई तो कार्यकर्ता और उत्साहित हो गए।

इसे भी पढ़ें :-जूता कारोबारियों के ठिकानों पर आयकर विभाग का छापा : 60 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी बरामद

डी घेरे पर मौजूद लोगों को हटाने के लिए वहां सुरक्षा कर्मियों ने डंडे भी चलाए, लेकिन मंच पर मौजूद नेताओं ने राहुल और अखिलेश की मौजूदगी में लोगों पर डंडा चलाने से मना कर दिया। बाद में राहुल और अखिलेश कुर्सी पर ही तकरीबन 15 मिनट बैठे रहे। बताया जा रहा है कि इस बीच वहां सुरक्षा कर्मियों ने दोनों नेताओं तक सूचना पहुंचाई कि यहां ज्यादा देर रुकना ठीक नहीं होगा। इसके बाद अखिलेश और राहुल सभा छोड़कर वहां से चले गए। बाद में दोनों का हेलीकॉप्टर एक-एक करके वहां से यमुनापार के मुंगारी के लिए रवाना हो गया। उधर, भगदड़ को लेकर आम आदमी पार्टी के महानगर अध्यक्ष मो. कादिर ने कहा कि पुलिस का इंतजाम वहां अच्छा नहीं था। अगर पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित कर लिया होता तो भगदड़ जैसी स्थिति न आती।

इसे भी पढ़ें :-Corona virus : सिंगापुर में कोविड ​-19 की नई लहर…25,900 से ज्यादा मामले दर्ज

पड़िला महादेव मंदिर के पास एक आम के बाग में सपा प्रत्याशी अमरनाथ मौर्य के समर्थन में सभा आयोजित थी। सभा स्थल पर सुबह से ही भीड़ आनी शुरू हो गई। दोपहर 1.20 बजे सबसे पहले अखिलेश यादव का हेलीकॉप्टर वहां पहुंचा। इस दौरान तमाम कार्यकर्ता पुलिस का घेरा तोड़ हैलीपैड तक पहुंचना चाह रहे थे। लेकिन बाद में पुलिस ने वहां से सभी को खदेड़ दिया। वहीं अखिलेश जब तक मंच पर पहुंचते तब तक वहां मौजूद सैकड़ों सपा समर्थकों ने मंच के पास डी पर लगी बैरिकेटिंग तोड़ दी। अचानक सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मंच तक पहुंच गए। इस दौरान अखिलेश के साथ आए सुरक्षा कर्मियों ने मोर्चा संभाल लिया। कुछ लोग जो मंच पर चढ़ गए थे, उन्हें वहां से किसी तरह उतारा गया।

अपने नेता को देखकर कार्यकर्ता उत्साहित हो गए। अचानक पीछे से आई भीड़ ने आगे खड़े लोगों को धकेल दिया। मौके पर पुलिस का वहां पर्याप्त इंतजाम नहीं था। इस वजह से वहां स्थिति बिगड़ी। – दान बहादुर मधुर, मीडिया प्रभारी समाजवादी पार्टी

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

More Articles