धमतरी : कलेक्टर नम्रता गांधी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक

0
68
धमतरी : कलेक्टर नम्रता गांधी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक

धमतरी 14 फरवरी 2024 : कलेक्टर नम्रता गांधी की अध्यक्षता में आज जिला पंचायत के सभाकक्ष में जिला स्तरीय सडक सुरक्षा समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर गांधी ने दुर्घटनाओं की रोकथाम हेतु किये जा रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा की। बैठक में एसडीमए धमतरी डॉ विभोर अग्रवाल, नगर निगम आयुक्त विनय पोयाम, कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग नेताम के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

बैठक में विभिन्न एजेंडों पर चर्चा कि गयी जिसमें से प्रमुख रूप लोक निर्माण विभाग को जिला अंतर्गत सड़कों का संधारण, चिन्हित ब्लैक स्पॉट पर सुधार, राष्ट्रीय सडक सुरक्षा माह अंतर्गत सुरक्षा हेतु किये गये इंतजाम पर चर्चा की गयी।

वहीं नगर निगम धमतरी के घड़ी चौक से सदर मार्ग, सिहावा चौक से नहर नाका तक मार्ग पर अतिक्रमण कर व्यावसाय करने वालों पर की गयी कार्यवाही, आवारा मवेशियों के कारण होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने हेतु बनाये गये गौठानों में रखने, भीड़ वाले स्थानों का चिन्हांकर नो पार्किंग बोर्ड लगाने, मुख्य चौक चौराहों में सीसीटीव्ही कैमरा लगाने, कोलियारी मार्ग में लगने वाले मछली पसरा को अन्यत्र स्थापित करने की जानकारी गयी।

इसे भी पढ़ें :-छत्तीसगढ़ सड़क सुरक्षा में आदर्श राज्य बने

वहीं राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्माणाधीन राष्ट्रीय राजमार्ग के अंतर्गत आने वाले ग्रामों के प्रवेश द्वार पर क्रासिंग, स्ट्रीट लाईट, सूचनात्मक चेतावनी संकेतनात्मक बोर्ड रोड मार्किंग करने के निर्देश दिये गये।

बैठक में सड़क सुरक्षा मित्र का गठन करने के भी निर्देश दिये गये। वहीं गुड सेमेरिटन को बढ़ावा देने और सड़क दुर्घअना में कमी लाने हेतु नुक्कड नाटक के जरिये व्यापक प्रचार -प्रसार करने के निर्देश दिये गये। शासकीय एवं निजी विद्यालयों में नाबालिक छात्र-छात्राओं द्वारा शाला आने में प्रतिबंध और गुडसेमेरिटन की जानकारी देते हुए दुर्घटना पीड़ित व्यक्ति की सहायता करने के लिए प्रोत्साहित करने के निर्देश दिये गये।

शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए शासकीय एवं निजी विद्यालयों में नाबालिक विद्यार्थियों द्वारा दोपहिया वाहन शाला में लाने पर पूर्ण प्रतिबंध, बैठक में पुलिस विभाग को ओवर स्पीड वाहनों पर कार्यवाही करने, स्कूली वाहनों की नियमित जांच करने कहा गया। वहीं परिवहन विभाग को स्कूली बच्चों को लाने हेतु प्रयुक्त वाहन की समय समय पर जांच करने कहा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here