मुसीबत में फंसी महिलाएं टोल फ्री नंबर 181 और सखी सेंटर से लें मदद

Must Read

रायपुर, 19 जनवरी 2023 : महिलाओं को घर के भीतर और बाहर अनेक प्रकार की मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। ऐसी हर परिस्थिति में महिलाओं की चौबीसों घंटे सहायता करने के लिए सरकार द्वारा व्यवस्था सखी सेंटर और महिला हेल्पलाइन नंबर 181 की व्यवस्था की गई है।

किसी भी प्रकार की घटना, प्रताड़ना या संकट होने पर महिलाएं त्वरित सहायता और आपातकालीन सेवाओं के लिए हेल्पलाइन नंबर 181 पर मोबाइल या लैंडलाईन से कॉल कर मदद ले सकती है। यह नंबर चौबीसों घंटे काम करता है और यह निःशुल्क सेवा है। इसके साथ पीड़ित महिलाओं की मदद के लिए छत्तीसगढ़ के पुराने सभी 27 जिलों में सखी सेंटर संचालित हैं। ये सेंटर मुसीबत में फंसी महिलाओं के लिए स्वास्थ्य, आश्रय, पुलिस, विधिक जैसी सभी प्रकार की सहायता एक स्थान पर ही उपलब्ध कराते हैं।

यह भी पढ़ें :-तखतपुर में खुड़िया जलाशय से पानी सप्लाई के लिए जल्द बनाई जाए कार्ययोजना : मुख्यमंत्री बघेल

फोन करना संभव न हो तो महिलाएं वाट्सअप, फेसबुक, ट्विटर, ईमेल और वेबसाइट के माध्यम से भी महिलाएं हेल्पलाइन-181 से मदद ले सकती हैं। वेबसाइट ूूूण्181बीींजजपेहंतीण्पद ईमेल एड्रेस ीमसच/181बीींजजपेहंतीण्पद फेसबुक पेज ूूूण्ंिबमइववाण्बवउ/181ॅभ्स्ब्ीींजजपेहंती, ट्विटर जूपजजमतण्बवउ/181छमूभ्वचम और वाट्सअप 9406005181 के माध्यम से राज्य के किसी कोने से कोई भी महिला या बालिका मैसेज कर सहायता मांग सकती है।

महिला हेल्पलाईन द्वारा तत्काल सहायता पहुचाने के लिए राज्य में संचालित सखी वन स्टॉप सेंटर, पुलिस, हॉस्पिटल, सुधार गृह सहित अन्य आपातकालीन सेवाओं के साथ समन्वय कर प्रकरण का निराकरण किया जाता है। सेंटर में प्रकरण दर्ज होने के बाद उसके निराकरण तक फॉलोअप भी किया जाता है।

यह भी पढ़ें :-महासमुंद : 25 जनवरी को मनाया जाएगा राष्ट्रीय मतदाता दिवस

किसी महिला की तरफ से कोई दूसरा व्यक्ति भी मदद के लिए 181 नंबर पर कॉल कर सकता है। यहां न सिर्फ महिलाओं की हिंसा या दुर्घटना में मदद की जाती है, बल्कि सामाजिक कल्याण से जुड़ी योजनाओं जैसे विधवा पेंशन, विकलांग पेंशन, आवास योजना में आने वाली दिक्कतों में भी सहायता की जाती है। यहां विधिक सेवा और सखी सेंटरों की मदद से महिलाओं की न्यायतंत्र तक पहुंच और कानूनी सहायता प्राप्त करने में भी सहायता की जाती है। घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाएं भी मदद के लिए फोन कर सकती हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए यहां महिलाओं को कानूनी सलाह, स्वास्थ्य और आश्रय संबंधी सहायता पहुंचाई जाती है।

उल्लेखनीय है कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा महिलाओं को संकटकालीन परिस्थितियों में तुरंत सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से रायपुर में 25 जून 2016 से राज्य स्तर पर महिला हेल्पलाइन नम्बर 181 का संचालन किया जा रहा है। यह हेल्पलाइन संेटर पूरे छत्तीसगढ़ में महिलाओं की सहायता के लिए समन्वय करता है और सहेली की तरह महिला की मदद करता है। राज्य में महिला हेल्पलाइन से अब तक 18 हजार से अधिक प्रकरण दर्ज किये गए हैं, इनमें से 15 हजार 417 प्रकरणों का निराकरण कर दिया गया है शेष प्रकरण प्रक्रियाधीन हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

spot_img

RO 12141/ 126

spot_img

RO 12111/ 129

spot_img

RO- 12172/ 127

spot_img

RO - 12027/130

spot_img

RO - 12006/126

spot_img

More Articles